अगस्ता वेस्टलैंड सौदे पर स्पष्टीकरण दे गांधी परिवार – सीएम फडणवीस

Download PDF

मुंबई ।  मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे में घोटाले का आरोप लगाया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि तथाकथित घोटाले में सोनिया गांधी और कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी व अन्य का नाम का नाम दस्तावेजों में आया है। लिहाजा कांग्रेस को इस मामले में खुलासा करना चाहिए। 

डील में घोटाला

सहयाद्री अतिथि गृह में सोमवार को प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री फडणवीस ने कांग्रेस पर हमला बोला। इस अवसर पर मेडिकल शिक्षा मंत्री गिरीश महाजन और भाजपा प्रदेश प्रवक्ता माधव भंडारी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सौदे के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल ने अपने वकील को लिखे पत्र में कहा कि वह सोनिया गांधी के बारे में पूछे जाने वाले सवालों पर क्या जवाब दे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगस्ता हेलीकॉप्टर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री जैसे वीवीआईपी लोगों की यात्रा के लिए खरीदा जाना था। इस डील में घोटाला हुआ है। यह आरोप हम नहीं लगा रहे, बल्कि विदेशी एजेसियों की जांच में खुलासा हुआ है। इटली के न्यायालय ने भी एेसा कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वीवीआईपी अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर की खरीद में 125 करोड़ की दलाली दी गई है। उन्होंने कहा कि इसके लिए शेल कंपनी स्थापित की गई थी। लिहाजा चोर-चोर चिल्ला रहे राहुल गांधी को इसका जवाब देना चाहिए। 

टेंडर प्रक्रिया में तीन कंपनियां

मुख्यमंत्री ने कहा कि एनसीपी मुखिया शरद पवार की पार्टी के एक वकील मिशेल की पैरवी कर रहे है। अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले का मिशेल राजदार है। घोटाले का सीधा लाभ कांग्रेस को मिला है। ईडी ने यह सारी बातें कोर्ट के सामने रखी हैं। इटालियन कोर्ट ने अगस्ता वेस्टलैंड मामले में अपना फैसला सुनाया है। संबंधित दस्तावेजों में चार बार सोनिया गांधी का नाम आया है। साथ ही इटालियन लेडी का बेटा प्रधानमंत्री बन सकता है, एेसा भी दस्तावेजों में उल्लेख है। इससे साबित होता है कि इस मामले में गांधी परिवार का समावेश है। अगस्ता वेस्टलैंड मामले में जो बाते सामने आ रही हैं, इस मामले में कांग्रेस को स्पष्टीकरण देना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि टेंडर प्रक्रिया में तीन कंपनियां शामिल हुई थी, उसमें से एक कंपनी टेंडर प्रक्रिया से बाहर हो गई। इस सौदे में बड़े पैमाने पर घोटाला हुआ है। कई नेताओं और अधिकारियों को हिस्सेदारी बांटी गई। इटली की निचली अदालत ने दोषियों को सजा भी सुनाई थी।  

शिवसेना के आरोपो को महत्व नहीं देते- सीएम 

अहमदनगर मनपा में एनसीपी के समर्थन लेने के मामले में मुख्यमंत्री ने कहा कि शिवसेना के आरोपों को वे महत्व नहीं देते। हम शिवसेना को समर्थन देने को तैयार थे। इसे लेकर पार्टी नेताओं से बातचीत चल रही थी। तीन दिन तक शिवसेना बातचीत करने को तैयार नहीं थी। आखिरी वक्त तक हम शिवसेना के जवाब का इंतजार करते रहे। आखिर में हमने निर्णय लेने का फैसला स्थानीय नेताओं पर छोड़ दिया। एनसीपी नगरसेवकों ने भाजपा को समर्थन दिया, इस संबंध में एनसीपी नेताओं से पूछा जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी समय में होनेवाले चुनाव कांग्रेस और एनसीपी के विरोध में ही लड़े जाएंगे।   

Download PDF

Related Post