ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना के बाद  हुआ मुंबई का विकास – राज्यपाल 

Download PDF
 मुंबई-  राज्यपाल सी विद्यासागर राव का कहना है मुंबई में ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना हुई और सुंदर इमारतों का निर्माण हुआ। इस शहर को सुंदर बनाया। आज मुंबई विश्व पटल पर सुंदर शहर बना है तथा देश की आर्थिक राजधानी के रूप में जाना जाता है। दो करोड़ जनसंख्यावाले इश शहर को अब वैश्विक दर्जे के सुंदर शहर के रूप में पहचान मिली है। देश के निर्माण में बिल्डरों का बड़ा योगदान रहा है, लिहाजा भवन निर्माता सुंदर इमारतें बनाकर अधिकाधिक स्मार्ट शहरों का निर्माण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं।
दो करोड़ जनसंख्यावाले इश शहर को अब वैश्विक दर्जे के सुंदर शहर के रूप में पहचान मिली है। देश के निर्माण में बिल्डरों का बड़ा योगदान रहा है, लिहाजा भवन निर्माता सुंदर इमारतें बनाकर अधिकाधिक स्मार्ट शहरों का निर्माण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं – राज्यपाल 
राज्यपाल क्रेडाई-एमसीएचआई बिल्डर संगठन की ओर से आयोजित गोल्डन पिलर रियल इस्टेट अवार्डस कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। यह कार्यक्रम वरली के सरदार वल्लभभाई पटेल क्रीडांगण में संपन्ना हुआ। कार्यक्रम में उद्योग मंत्री सुभाष देसाई, गृहनिर्माण मंत्री प्रकाश महेता भी उपस्थित थे। राज्यपाल ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का वर्ष 2022 तक सबको घर देने का सपना है। इस सपने को पूरा करने की जिम्मेदारी हम सबकी है। राज्य में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 4 लाख घर बनाए गए हैं। वर्ष 2019 तक और 12 लाख घर उपलब्ध होंगे। बिल्डरों के सामने कई चुनौतियां हैं। जगह की उपलब्धता, विभिन्न अनुमतियां, ग्राहकों को बैंक का कर्ज देना जैसी समस्याओं का निपटारा करने के लिए एक खिड़की योजना शुरू की गई है।
राज्यपाल ने कहा कि आज देश में सबसे ज्यादा रोजगार देनेवाला निर्माणकार्य क्षेत्र है। इसके बाद कृषि क्षेत्र में रोजगार के अवसर हैं। महारेरा के कारण ग्राहकों को अधिक राहत मिली है और उनका इस क्षेत्र पर विश्वास बढ़ा है। ग्राहकों को अच्छे घर देना, कम आय गुट में गरीबों को घर देने की बड़ी चुनौती बिल्डरों पर है। इस काम के लिए बिल्डरों को आगे आकर ग्राहकों में विश्वास निर्माण करना होगा।
Download PDF

Related Post