ओबीसी आरक्षण रद्द करने के खिलाफ लामबंदी

Download PDF

मुंबई।  ओबीसी समाज का आरक्षण कोटा रद्द करने की याचिका के खिलाफ रणनीति बनाने के लिए  ओबीसी नेताओं की अहम बैठक गुरुवार को बुलाई गई है। ओबीसी समाज से जुड़े नेताओं ने राज्य में जिला व प्रादेशिक स्तर के नेताओं को एक मंच पर आने का अनुरोध किया है। 

बाम्बे हाई कोर्ट में याचिका

मराठा समुदाय के नेता बालासाहेब सराटे ने ओबीसी आरक्षण रद्द करने की मांग को लेकर बाम्बे हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। ओबीसी नेताओं का तर्क है कि अपने अधिकारों की रक्षा के लिए इस चुनौती का मिलकर मुकाबला करना होगा। गुरुवार को यह बैठक सुबह 11 बजे विधान भवन के पास बजाज भवन में आयोजित की गई है। बैठक में पूर्व विधायक प्रकाश शेंडगे,  हरिभाऊ राठौड़, श्रावण देवरे, बालाजी शिंदे, मच्छिंद्र भोसले, चंद्रकांत बावकर, राजाराम पाटील, लक्ष्मण गायकवाड़, सुशीला मोराले, सुषमा अंधारे, एम.जी. माचणवार, पी.बी. कुंभार, नागोराव पांचाल, भाऊसाहेब बावणे, 

ओबीसी व भटक्या विमुक्त समाज के लोगों ने भाजपा सरकार पर भेदभाव का आरोप लगाया है।  शनिवार को आजाद मैदान में एक दिन के सांकेतिक भूख हड़ताल  पर ओबीसी नेता बैठेंगे। दरअसल याचिका में ओबीसी आरक्षण को गलत बताते हुए कहा गया है कि यह जातिगत आरक्षण है। लेकिन 34 फीसदी लोगों के लिए 32 फीसदी आरक्षण दिया गया है। सराटे के अनुसार ओबीसी समाज को आरक्षण देते समय ना तो कोई सर्वे किया गया और ना ही कोई अध्ययन। लिहाजा ओबीसी आरक्षण को रद्द किया जाना चाहिए। 

Download PDF

Related Post