ममता बनर्जी के समर्थन में उतरे राज ठाकरे

Download PDF

मुंबई- पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के केंद्र सरकार के विरोधी धरने का महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने समर्थन किया है। राज ठाकरे ने संविधान की रक्षा किए जाने की बात कही है। 

केंद्र सरकार की इस तानाशाही के विरुद्ध आवाज

राज ठाकरे द्वारा जारी किए गए बयान के मुताबिक पश्चिम बंगाल सरकार को विश्वास में न लेते हुए सीबीआई ने कोलकाता स्थित पुलिस आयुक्त के घर में घुसने की कोशिश की। सीबीआई की स्वतंत्रता समाप्त करने के लिए आलोक वर्मा मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या -क्या किया है, इसे पूरे देश ने देखा है। लेकिन नरेंद्र मोदी को खुद के राजनीतिक स्वार्थ के लिए सीबीआई जैसी संस्था को बलि का बकरा नहीं बनाना चाहिए। 
राज ठाकरे ने कहा है कि हमारा देश संघराज्य है और सभी राज्यों को स्वतंत्र अधिकार दिए गए हैं। किसी भी राज्य के अधिकारों में हस्तक्षेप करने का अधिकार केंद्र सरकार के पास नहीं है। यह भाजपा को नहीं भूलना चाहिए। केंद्र सरकार की इस तानाशाही के विरुद्ध ममता बनर्जी ने आवाज उठाई है| इसलिए राज ठाकरे ममता बनर्जी का अभिनंदन किया है। राज ठाकरे ने सोमवार को राणेसिद्धी जाकर अनशन पर बैठे वरिष्ठ समाजसेवक अण्णा हजारे से भी मुलाकात की। 

दरअसल अरबों रुपये के चिटफंड घोटाला मामले में साक्ष्यों को मिटाने के आरोपित कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार पर सीबीआई कार्रवाई के खिलाफ तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने आवाज बुलंद की है। कोलकाता में सीबीआई और पुलिस के बीच शुरू हुआ विवाद सुप्रीम कोर्ट तक जा पहुंचा है। बीते रविवार शाम छह बजे के बाद लाउडन स्ट्रीट में स्थित कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के घर करीब 40 से 45 सीबीआई के अधिकारी डीएसपी तथागत वर्धन के नेतृत्व में जा पहुंचे थे। ये लोग चिटफंड घोटाला मामले में पुलिस आयुक्त से पूछताछ करना चाहते थे लेकिन कुमार के आवास की सुरक्षा में तैनात डीसी साउथ मेराज खालिद और अन्य पुलिस अधिकारियों ने सीबीआई अधिकारियों को पुलिस आयुक्त के घर में नहीं घुसने दिया और उन्हें वापस लौट जाने को कहा। जब देर तक सीबीआई अधिकारी नहीं लौटे तो पुलिस ने कॉलर पकड़ कर घसीटते हुए इन्हें धक्का देकर पुलिस की वैन में डाला और शेक्सपियर सरणी थाना ले गए। 

इधर सूचना मिलने के तुरंत बाद ममता बनर्जी कानून व्यवस्था के एडीजी अनुज शर्मा को लेकर राजीव कुमार के घर जा पहुंची थीं। बाद में पुलिस महानिदेशक विरेंद्र कुमार, डीसी डीडी-1 विनीत गोयल और अन्य पुलिस अधिकारी भी कुमार के घर जा पहुंचे जहां उच्च स्तरीय बैठक हुई। वहां से बाहर निकलीं ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के निर्देश पर सीबीआई बदले की कार्रवाई कर रही है ताकि मुझे परेशान किया जा सके। ममता ने कहा कि सीबीआई ने पूर्व सूचना नहीं दी थी। ममता देर रात धरने पर बैठ गई। 

Download PDF

Related Post