मराठा समाज को 16 फीसदी आरक्षण लागू

Download PDF

मुंबई। महाराष्ट्र में शनिवार को 16 फीसदी मराठा आरक्षण की अधिसूचना जारी कर दी गई है। यह अधिसूचना जारी होने के बाद मराठा आरक्षण पूरे राज्य में शनिवार से लागू हो गया है। इस आरक्षण को मिलाकर राज्य में अब कुल आरक्षण 68 फीसदी हो गया है। इनमें अनुसूचित जाति/जमाति के लिए 20 फीसदी, ओबीसी वर्ग के लिए 19 फीसदी, भटकंती विमुक्त जमाति के लिए 11 फीसदी,गोवारी समाज के लिए विशेष पिछड़ा प्रवर्ग 2 फीसदी,मराठा समाज के लिए 16 फीसदी का समावेश है।

मराठा को मिलाकर राज्य में अब कुल 68 फीसदी आरक्षण

देश में तमिलनाडू में 69 फीसदी आरक्षण लागू है और उसके बाद महाराष्ट्र में सरकार ने 68 फीसदी आरक्षण दिया है। तमिलनाडू में आरक्षण का मामला सर्वोच्च न्यायालय में प्रलंबित है, इसलिए वहां आरक्षण जारी है, उसी तर्ज पर महाराष्ट्र सरकार ने भी मराठा समाज को आरक्षण देने का निर्णय लिया है। पिछली सरकार ने राज्य में मराठा समाज को 16 फीसदी व मुसलिम समाज के लिए 5 फीसदी आरक्षण दिया था,लेकिन हाईकोर्ट में मराठा आरक्षण नहीं टिक सका था। इसलिए राज्य में 2014 में नवगठित भाजपा सरकार ने दोनों आरक्षण रद्द कर दिया था। लेकिन पिछले 3 वर्षों से राज्य में मराठा समाज ने 58 मूक मोर्चा निकाला और बड़े पैमाने पर आंदोलन किया। इसलिए राज्य सरकार ने मराठा समाज के बारे में पिडड़ा होने की रिपोर्ट मंगवाई और राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग की रिपोर्ट सरकार के पास आने के बाद रिपोर्ट स्वीकार किया।

 मुख्यमंत्री फडणवीस ने  29 नवंबर को विधासभा व विधान परिषद में मराठा आरक्षण विधेयक पारित करा  लिया। इसके बाद 30 नवंबर को राज्यपाल सी विद्यासागर राव ने इस विधेयक पर हस्ताक्षर कर दिया। शनिवार को राज्य सरकार ने मराठा आरक्षण की अधिसूचना जारी कर दिया है। इसलिए आज से मराठा समाज को राज्य की नौकरियों में व शिक्षा में 16 फीसदी आरक्षण मिल सकेगा।
Download PDF

Related Post