आदित्य खुद लेंगे अपने राजनीतिक भविष्य पर फैसला- उद्धव ठाकरे 

Download PDF
मुंबई। शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे के लोकसभा चुनाव लड़ने की अटकलों के बीच शिवसेना पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने स्पष्ट किया है आदित्य चुनाव लड़गें या नहीं, इस पर फैसला वे खुद लेंगे। उन्होंने कहा कि मेरे पिता बालासाहब ठाकरे ने मुझ पर कोई दबाव नही डाला। उसी तरह मैं भी अपने पुत्र आदित्य पर कोई दबाव नही डालूंगा। हालांकि उन्होंने साफ किया कि फिलहाल आदित्य लोकसभा चुनाव में पार्टी उम्मीदवारों का प्रचार करेंगे। 
 
याद दिला दें कि बीते दिनों से मीडिया में खबरें आ रही थी कि आदित्य उत्तर पश्चिम संसदीय सीट से चुनाव लड़ेंगे। हालांकि आदित्य ने साफ किया कि वे चुनाव नहीं लड़ेंगे। बुधवार को उद्धव ठाकरे ने पत्रकारों को बताया कि पिता दिवंगत बालासाहब ठाकरे ने मुझ पर कोई दबाव नही डाला, उसी तरह मैं भी अपने बेटे आदित्य पर कोई दबाव नही डालूंगा। आदित्य अपना निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र हैं। भविष्य में चुनाव लड़ने पर आदित्य और शिवसैनिक फैसला लेंगे। उद्धव ने कहा कि लोकसभा चुनाव में पार्टी 48 सीटों पर जीत दर्ज करने का प्रयास करेगी। शिवसेना के 23 उम्मीदवारों की सूची जल्द जारी की जाएगी। भाजपा-शिवसेना गठबंधन की पहली प्रचार सभा  24 मार्च को कोल्हापुर में होगी। वे और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस इस सभा से प्रचार की शुरूआत करेंगे।
भाजपा में शामिल होने के बाद सुजय विखे पाटिल बुधवार को उद्धव से मुलाकात करने पहुंचे थे। उद्धव ने कहा कि मैं जिस तरह अपने बेटे से प्यार करता हूं, उसीतरह दूसरे के बेटों से भी प्यार करता हूं। उद्धव ने एनसीपी मुखिया शरद पवार के उस पर तंज कसा जिसमें पवार ने कहा था कि अपने घर के बच्चे का मैं विचार करूंगा, दूसरों की जिद्द मैं कैसे पूरा कर सकता हूं। दरअसल सुजय को भाजपा में शामिल होने से रोकने के लिए उनके पिता व विधान सभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल ने कोशिश की थी कि सुजय को अहमदनगर से एनसीपी का टिकट दिया जाए। शरद पवार ने इस प्रस्ताव को यह कहते अस्वीकार कर दिया कि यह सीट एनसीपी कोटे की है।
Download PDF

Related Post