अहमदनगर हत्याकांड: नहीं बख्शें जाएंगे आरोपी- केसरकर 

Download PDF
 मुंबई- अहमदनगर में दो शिवसैनिकों की हत्या के मामले में पीआई को सस्पेंड कर दिया गया और अन्य अधिकारियों की भी जांच चल रही है। यह जानकारी सोमवार को गृह राज्यमंत्री दीपक केसरकर ने दी। उन्होंने कहा कि मामला बेहद गंभीर हो, चाहे जिस पार्टी का नेता हो या कार्यकर्ता हो, घटना में शामिल लोगों पर कार्रवाई होगी।
अहमदनगर के सुवर्णनगर परिसर में शिवसेना उपशहरप्रमुख संजय कोतकर व शिवसैनिक वसंत ठूबे की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस घटना के बाद से ही तनाव की स्थिति बनी हुई है। इस हत्याकांड में पुलिस ने 22 लोगों को गिरफ्तार किया है और 250 से अधिक लोगों पर मामला दर्ज किया गया है।
गृह राज्यमंत्री ने बताया कि घटना के बाद से ही वे लगातार वे मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के संपर्क में हैं। इस मामले को लेकर राज्य में दंगा न भड़के इसलिए शिवसेना नेता व परिवहन मंत्री दिवाकर रावते और पर्यावरण मंत्री रामदास कदम सहित वे खुद घटनास्थल का पर गए थे। उन्होंने एसपी कार्यालय में हुई तोड़फोड़ पर नाराजगी जताते हुए कहा कि इसतरह की बातें बर्दाश्त नहीं की जाएंगी। उन्होंने बताया कि एडिश्नल डीजी के साथ अहमदनगर की घटना को लेकर बैठक हो चुकी है। उन्होंने कहा कि एनसीपी राजनीति कर रही है। भीमा-कोरेगांव हिंसा के संबंध में गृह राज्यमंत्री ने बताया संघर्ष दोनों तरफ किया गया था। इस मामले की जांच चल रही है।
मामले की जांच के लिए एसआईटी 
बीते शनिवार की शाम को अहमदनगर के सुवर्णनगर परिसर में शिवसेना उपशहरप्रमुख संजय कोतकर व शिवसैनिक वसंत ठूबे की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस घटना के बाद से ही तनाव की स्थिति बनी हुई है। इस हत्याकांड में पुलिस ने 22 लोगों को गिरफ्तार किया है और 250 से अधिक लोगों पर मामला दर्ज किया गया है। एनसीपी विधायक शिवाजी कर्डिले, दादाभाऊ कलमकर, संग्राम जगताप आदि को गिरफ्तार किया गया। मामले की सघन जांच जारी है। मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठित की गई है।
Download PDF

Related Post