मोहन भागवत से मिले अमित शाह, अटकलों का बाजार गर्म 

Download PDF
मुंबई- मराठा आरक्षण को लेकर चल रही सियासी खींचतान के बीच भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने अचानक मुंबई पहुंचकर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से चर्चा की। हालांकि दोनों के बीच क्या बातचीत हुई यह स्पष्ट नहीं हो सका है।

पार्टी पदाधिकारियों सहित उन्होंने कईयों से मुलाकात

भाजपा अध्यक्ष शाह का अचानक मुंबई आकर मोहन भागवत से मिलना, राजनीतिक गलियारे में चर्चा का विषय बना हुआ है। शाह दिनभर मुंबई में ही रहे और पार्टी पदाधिकारियों सहित उन्होंने कईयों से मुलाकात की। शनिवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मराठा आरक्षण को लेकर विधानभवन में सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। उससे पहले शनिवार की सुबह मे विमान से शाह मुंबई में दाखिल हुए। दादर स्थित आरएसएस कार्यालय पहुंचकर उन्होंने मोहन भागवत से मुलाकात की। मुलाकात के समय मुंबई के भाजपा अध्यक्ष आशिष शेलार भी मौजूद थे। मराठा आरक्षण को लेकर निर्माण हुई अस्थिरता में भाजपा अकेली पड़ गई है। मुख्यमंत्री फडणवीस की कार्यशैली पर भी सवाल उठने लगे हैं। मराठा समुदाय की नाराजगी भाजपा को आगामी चुनाव में भारी पड़ सकती है। गुजरात में पाटीदार आंदोलन की तरह मराठा समुदाय की एकजुटता भी भाजपा की मुश्किलें बढ़ा सकती है। दूसरी ओर धनगर समाज आरक्षण और मुस्लिम आरक्षण की मांग भी जोर पकड़ने लगी है। एमआईएम के विधायक इम्तियाज जलील ने सवाल उठाया है कि मराठा समुदाय के विधायक अधिक होने से मराठा आरक्षण की चर्चा हो रही है, लेकिन मुस्लिम आरक्षण का क्या होगा।
प्रदेश का मुख्यमंत्री बदलने का दबाव भी संगठन का सिरदर्द बना हुआ है। सूत्रों के मुताबिक इन तमाम मसलों पर शाह ने भागवत से बातचीत की। हालांकि केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी साफ कर चुके हैं कि मुख्यमंत्री नहीं बदले जाएंगे। फडणवीस ही मुख्यमंत्री पद पर बरकरार रहेंगे। पूरी भाजपा फडणवीस के साथ है। मोहन भागवत से मुलाकात के बाद शाह ने पार्टी कार्यालय में संगठन के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। शाह ने राज्य के ताजा राजनीतिक हालात पर पार्टी पदाधिकारियों की राय जानी। शाह ने मुख्यमंत्री फडणवीस, प्रदेशाध्यक्ष रावसाहेब दानवे, राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल, शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े, सहित अऩ्य मंत्रियों और वरिष्ट नेताओं से भी हालात का जायजा लिया।
Download PDF

Related Post