ईवीएम मशीन पर पाबंदी लगाने अण्णा हजारे से गुहार 

Download PDF
मुंबई- चुनाव नतीजे घोषित होने के बाद ईवीएम मशीन पर सवाल उठते रहे हैं। अब कुछ सामाजिक संगठनों ने भी ईवीएम मशीन से चुनाव न कराए जाने की मांग की है। इस मांग को लेकर सामाजिक संगठनों ने वरिष्ठ समाजसेवक अण्णा हजारे से गुहार लगाई है। अण्णा से अनुरोध किया गया है वे इस मामले में हस्तक्षेप करें और भारत चुनाव आयोग से बातचीत करें।
ईवीएम मशीन के इस्तेमाल पर राजनीतिक पार्टियों द्वारा आपत्ति जताई जाती रही है। यह लोकतंत्र पद्धति से अपने वोटिंग अधिकार का इस्तेमाल करनेवाले मतदाताओं का अपमान है। लिहाजा ईवीएम मशीन पर लोगों के मन में संदेह निर्माण हो गया है।
मानवी हक्क संरक्षण और जागृति मंच के पदाधिकारियों ने मंगलवार को पुणे में अण्णा हजारे से मुलाकात की। उन्होंने अण्णा को ईवीएम मशीनों पर पांबदी लगाने के संबंधी ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में कहा गया है कि ईवीएम मशीन के इस्तेमाल पर राजनीतिक पार्टियों द्वारा आपत्ति जताई जाती रही है। यह लोकतंत्र पद्धति से अपने वोटिंग अधिकार का इस्तेमाल करनेवाले मतदाताओं का अपमान है। लिहाजा ईवीएम मशीन पर लोगों के मन में संदेह निर्माण हो गया है। गलतफहमियों को दूर करना लोकतंत्र के लिए बेहद जरूरी है। सभी चुनाव भयमुक्त, निडर और पारदर्शी तरीके से होने चहिए। यह संवैधानिक जिम्मेदारी चुनाव आयोग की है।
चुनाव आयोग जन जागरूकता अथवा डेमो के माध्यम से लोगों में फैला भ्रम दूर करे। यदि संदेह का निवारण नहीं किया जा सकता तो ईवीएम मशीन से चुनाव न कराए जाएं। संगठनों ने मांग की है कि अण्णा इस मामले में हस्तक्षेप करें। वे चुनाव आयोग से इस संबंध में बाचतीत करके मामले का निपटारा कराएं। अण्णा इस मामले में क्या करते हैं, इस पर सबकी निगाहें टिकी हुई है। इस अवसर पर संस्था के शहराध्यक्ष आण्णा जोगदंड, संस्थापक विकास कूचेकर और संगीता जोगदंड सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।
Download PDF

Related Post