बिटकॉइन घोटाले का मुख्य आरोपी शिकंजे में

Download PDF

झूठी स्कीम शुरू कर निवेशकों के दो हजार करोड़ रुपए लूटे

मुंबई। राज्य में गेन बिटकॉईन डॉट कॉम वेबसाइट के माध्यम से पॉन्जी स्कीम शुरू कर निवेशकों के दो हजार करोड़ रुपए का घोटाला करने वाले मुख्य आरोपी अमित महेंद्र कुमार भारद्वाज को पुणे पुलिस ने दिल्ली एयरपोर्ट से दबोच लिया। इस घोटाले में शामिल अमित भारद्वाज और विवेक कुमार भारद्वाज को 13 अप्रैल तक पुणे पुलिस की हिरासत में भेजा गया है। अभी हॉल में विधानमंडल के बजट सत्र में विधानसभा में यह मामला जोरशोर से उठा था। सरकार ने इस मामले की जांच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से कराने पर सहमति जताई थी।
वर्चुअल करेंसी बिटकॉइन के जरिए आठ हजार लोगों को 2000 करोड़ रुपए का चूना लगाने वाले मुख्य आरोपी अमित भारद्वाज को पुणे पुलिस ने दिल्ली एयरपोर्ट से धर दबोचा। पुणे पुलिस अमित भारद्वाज के सात सहयोगियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।
वर्चुअल करेंसी बिटकॉइन के जरिए आठ हजार लोगों को 2000 करोड़ रुपए का चूना लगाने वाले मुख्य आरोपी अमित भारद्वाज को पुणे पुलिस ने दिल्ली एयरपोर्ट से धर दबोचा। पुणे पुलिस अमित भारद्वाज के सात सहयोगियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। गेन बिटकॉइन डॉट कॉम वेबसाइट के आधार पर पॉन्जी स्कीम शुरू कर कंपनी अमित भारद्वाज और उनके प्रतिनिधियों ने मुंबई, पुणे, नांदेड, कोल्हापुर सहित राज्य के लाखों निवेशकों के तकरीबन २ हजार करोड़ से अधिक रकम का घोटाला किया था। मिली जानकारी के अनुसार अमित भारद्वाज बिटकॉइन खरीदने पर निवेशकों से ज्यादा रिर्टन का वादा करता था। हालांकि उसने कभी भी निवेशकों को फायदा नहीं पहुंचाया। नांदेड में निवेशकों ने अमित के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने इस मामले में अमोल कुमार थोंबोले को गिरफ्तार किया था। सिंगापुर में बैठकर अमित भारद्वाज इस कंपनी को नियंत्रित करता था। पुलिस ने उसके खिलाफ लुक आऊट नोटिस जारी किया था। बता दें कि आरबीआई ने बिटकॉईन जैसी क्रिप्टो करेंसी को मंजूरी नहीं दी है।
Download PDF

Related Post