भाजपा सरकार लोगों की आंखों में धूल झोंक रही है – निरूपम

Download PDF

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार भले ही राज्य में यातायात की सुविधा के लिए मेट्रो रेल का जाल बिछाने जा रही है, लेकिन कांग्रेस का आरोप है  इससे फायदे कम पैसों की बर्बादी ज्यादा हो रही है।

मेट्रो को लेकर भाजपा सरकार पर भड़की कांग्रेस

कांग्रेस के मुंबई अध्यक्ष संजय निरूपम ने सोमवार को सरकारी ऑडिट रिपोर्ट के हवाले से कहा कि मेट्रो परियोजना को बिना किसी सही प्लानिंग व समन्वय से पूरा किया जा रहा है। कांग्रेस की सरकार की आई तो हम इसकी समीक्षा कराएंगे। कुछ  परियोजना में बदलाव किया जाएगा और कुछ अनावश्यक परियोजना को रद्द भी किया जा सकता है। 

निरुपम ने प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार की मेट्रो योजना से लोगों की समस्या कम होने की जगह और बढ़ने वाली है।  कई जगह मेट्रो स्टेशन के लिए भूमि का अधिग्रहण नहीं किया गया है। सरकार की योजना सर्विस रोड पर मेट्रो स्टेशन बनाने की है। यदि ऐसा होता है तो ट्रैफिक की समस्या और भी गंभीर हो सकती है। सर्विस रोड के आस -पास छोटे घरों के अलावा बड़ी रिहायशी इमारतें व ऑफिस हैं। सरकार ने इन जगहों पर स्टेशन बनाने के लिए स्थानीय लोगों से किसी तरह की चर्चा नहीं की है। कई जगह जरुरत नहीं होने पर भी मेट्रो का निर्माण किया जा रहा है। 

निरूपम के मुताबिक मेट्रो के काम से शहर का विकास कम बर्बादी ज्यादा हो रही है। पूरे शहर में दिखाया जा रहा है कि मेट्रो का काम तेजी से शुरू है, लेकिन वास्तव में चुनाव को देखते हुए भाजपा सरकार लोगों की आंखों में धूल झोंक रही है। फडणवीस सरकार ने मेट्रो ए और बी के काम को वर्ष 2019 तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया था। परंतु इसे बढ़ाकर वर्ष 2022 कर दिया गया है। मेट्रो निर्माण की गति को देखते हुए यह वर्ष 2030 से पहले पूरा नहीं हो सकता। 

निरुपम ने कहा कि लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते सरकार को ज्यादा से ज्यादा अंडरग्राउंड मेट्रो बनाने पर जोर देना चाहिए। अंडर ग्राउंड मार्ग पर  एलीवेटर मार्ग की तुलना में सिर्फ 30 प्रतिशत ज्यादा लागत आती है। अंडर ग्राउंड मार्ग बनाने के लिए भूमि अधिग्रहण की मुश्किलें नहीं आती हैं। उन्होंने बताया कि पवई झील के पास मेट्रो स्टेशन बनाने पर स्थानीकों का विरोध है। स्थानीय लोगों का कहना है इससे झील का अस्तित्व खतरे में पड़ सकता है। इस दौरान मेट्रो योजना के जानकार नितिन किलावाला, पूर्व विधायक अशोक जाधव, भूषण पाटील, संदेश कोंडविलकर समेत कई सामाजिक कार्यकर्त्ता मौजूद थे। 


Download PDF

Related Post