बीकेसी की तर्ज पर बनेगा कल्याण ग्रोथ सेंटर

Download PDF

मुंबई- बांद्रा-कुर्ला कांप्लेक्स (बीकेसी) की तर्ज पर कल्याण में ग्रोथ सेंटर का निर्माण किया जाएगा। यह जानकारी मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योग के लिए मुंबई पर निर्भर रहना पड़ता है, लेकिन अब इसका विकल्प तैयार करना जरूरी हो गया है। कल्याण ग्रोथ सेंटर का काम कालबद्ध तरीके से पूरा किया जाएगा। इस परियोजना से स्थानीय लोगों को फायदा होगा और रोजगार के दरवाजे खुल जाएंगे।

मुंबई महानगर विकास प्राधिकरण (एमएमआरडीए) के मार्फत तकरीबन एक हजार करोड़ रुपए की निधि आरक्षित रखी गई है। लिहाजा निर्धारित समयसीमा में काम पूरा हो सकेगा। जिस दिन सड़के बनकर तैयार हो जाएगीं, उस दिन वहां की जमीनों की कीमतें तीन गुना बढ़ जाएगी और भविष्य में दस गुना बढ़ोतरी होगी। उसका फायदा स्थानिकों को मिलेगा।

मुख्यमंत्री के मुताबिक कल्याण ग्रोथ सेंटर में स्थानीय भूमिपूत्रों को भागीदार बनाया जाएगा। परियोजना के लिए जमीन मालिकों को विश्वास में लेकर ही भूमि अधिग्रहण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 27 गावों की स्वतंत्र नगरपालिका बनाने की स्थानीय लोगों की मांग पर सरकार सकारात्मक है। इस मामले में सरकारी स्तर पर निर्णय लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि बीकेसी की तर्ज पर पहले कल्याण में सड़क और अन्य मूलभूत सुविधाओं का निर्माण किया जाएगा। स्थानिकों ने सहयोग दिया तो इसके लिए जगह सुनिश्चित की जाएगी। मुंबई महानगर विकास प्राधिकरण (एमएमआरडीए) के मार्फत तकरीबन एक हजार करोड़ रुपए की निधि आरक्षित रखी गई है। लिहाजा निर्धारित समयसीमा में काम पूरा हो सकेगा। जिस दिन सड़के बनकर तैयार हो जाएगीं, उस दिन वहां की जमीनों की कीमतें तीन गुना बढ़ जाएगी और भविष्य में दस गुना बढ़ोतरी होगी। उसका फायदा स्थानिकों को मिलेगा।  मुख्यमंत्री के अनुसार स्थानीय लोग पहल करें तो प्रत्येक भूखंड धारकों के साथ करार करने और समय पर काम पूरा करने के लिए सरकार तैयार है। भूमि अधिग्रहण कानून में संशोधन किया गया है, जिससे सरकार की जवाबदारी बढ़ गई है। राज्य सरकार ने पिछले तीन वर्ष में जितना भूमि अधिग्रहण किया है,

वह स्थानीयों की सहमति से किया है। लोगों को इसमें फायदा नजर आया तो खुद से सहभागी होते हैं। अपनी आनेवाली पीढ़ी के लिए यह परियोजना महत्वपूर्ण साबित होगी। इससे सेवा, सुविधा और रोजगार का निर्माण होगा। इस परिसर की अन्य परियोजनाओं में परोक्ष रूप से भूमिपुत्रों को लाभ नहीं मिला है। परंतु इस योजना से शत-प्रतिशत फायदा स्थानीय भूमिपूत्रों को मिलेगा। इस परियोजना के लिए लगनेवाली मूलभूत सुविधाओं का निर्माण तीन से चार वर्ष में पूरा किया जाएगा। आगामी सात से आठ वर्ष में यहां प्रत्यक्ष निवेश आने की शुरूआत होगी। परियोजना शुरू करने में स्थानीय लोग सहयोग करें। सभी सूचनाओं पर सकारात्मक विचार करके पारदर्शिता के साथ काम पूरा किया जाएगा।

कल्याण ग्रोथ सेंटर मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी परियोजनाओं की सूची में शामिल परियोजना बताई जा रही है। इस परियोजना में भूमिपूत्रों की भागीदार बनाया जाएगा। अर्थ व्यवस्था को गति मिलेगी साथ ही रोजगार के अवसर निर्माण होंगें। सेंटर में एकात्मिक संकुल तैयार किए जाएंगे। जमीन मालिकों को न्युनतम 50 प्रतिशत तक विकसित प्लॉट्स दिया जाएगा। रहिवासी, वाणिज्य और अन्य इमारतें बनाई जाएंगी। टी. डी. आर. एवं अतिरिक्त एफएसआई की सुविधा दी जाएगी। रेडी रेकनर से न्युनतम तीन से पांच गुना दर बढ़ने की संभावना है। जमीन मालिकों को उचित मुआवजा दिया जाएगा।

Download PDF

Related Post