हाथ में फूटा पटाखा, आंखें खो बैठा मासूम 

Download PDF

मुंबई- यवतमाल जिले के महागांव तहसील के भोसा गांव में रहनेवाले 9 वर्षीय बच्चे की पटाखे के कारण दोनों आंखों की ज्योति चली गई है। दरअसल बच्चे ने बुझा हुआ पटाखा हाथ में उठाया और उसी समय पटाखा फूट गया।

बुझा हुआ पटाखा हाथ में उठाया और उसी समय पटाखा फूट गया

प्राप्त जानकारी के अनुसार भोसा गांव में जिला परिषद का स्कूल है। कृष्णा बापूराव डोलस इस स्कूल में चौथी कक्षा में पढ़ता है। स्कूल परिसर में एक दूसरा विद्यार्थी पटाखे फोड़ रहा था। एक पटाखा फूटा नहीं था। बुझा पटाखा समझकर कृष्णा ने उसे हाथ में उठा लिया, उसी समय पटाखा हाथ में ही फूट गया। पटाखे में भरा बारुद उसकी आंखों में चला गया। इस हादसे में कृष्णा की दोनों आंखों की रोशनी चली गई।
 घटना की जानकारी शिक्षक को मिली तो उसने कॄष्णा को घर जाने कहा। कृष्णा के अभिभावकों  और गांव वालों का आरोप है कि शिक्षक को बच्चे को दवाखाने ले जाना चाहिए था। परंतु शिक्षक ने ऐसा ना करके उसे घर भेजा। देरी होने से बच्चे के आंखों की रोशनी चली गई। शिक्षक के खिलाफ पवन पाटिल ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। बच्चे का इलाज जारी है।
Download PDF

Related Post