Annaji Kahin – 6 – Politicians are spoiling sports in India!

Posted by - October 6, 2016

Shareअण्णा जी कहते हैं कि खेलों का सत्यानाश इस देश के नेताओं ने ही किया है। क्यों और कैसे, जानिए अण्णाजी के मुख से।

Read More

Annaji Kahin – 5 – Bridges built by our engineer collapse before inauguration!

Posted by - October 6, 2016

Shareअण्णा जी ने साफ कह दिया कि हमारे देश के इंजीनियर किसी काम के नहीं। अंग्रेजों के बनाए पुल सौ साल के बाद भी खड़े हैं, हमारे पुल तो उद्धाटन के पहले ही गिर जाते हैं। 6डी न्यूज के लिए प्रधान संपादक दीपक पचौरी को दिए साक्षात्कार के चुनिंदा अंश।

Read More

Annaji Kahin – 3 – Kashmir is part of India!

Posted by - October 6, 2016

Shareकश्मीर हमारा सिरताज है, वह देश का हिस्सा ही रहेगा। कोई कश्मीर हमसे अलग नहीं कर सकता। अण्णा जी ने साफ कह दिया कि कश्मीर सदा हमारा ही रहेगा।

Read More

Annaji Kahin – 2 – NGOs in India are looting!

Posted by - October 6, 2016

Shareदेश के समाजसेवी संगठनों को अण्णा हजारे ने लुटेरा और लाचची करार दिया। अण्णा जी ने जिस तरह आज के एनजीओ के बारे में बातें की हैं, वह सुन कर किसी की भी हंसी नहीं रुकेगी। 6डी न्यूज के लिए प्रधान संपादक दीपक पचौरी को दिए साक्षात्कार के चुनिंदा अंश।

Read More

Annaji Kahin – 1 – Oh Noooo… What Anna Ji said about Indian politicians!

Posted by - October 6, 2016

Shareअण्णा हजारे ने देश के राजनीतिकों के लिए क्या-क्या नहीं कहा। उनके शब्द सुनेंगे तो हंसते-हंसते लोटपोट हो जाएंगे। 6डी न्यूज के लिए प्रधान संपादक दीपक पचौरी को दिए साक्षात्कार के चुनिंदा अंश।

Read More

AnnaJi Exclusive Interview about Nation and Recent Scenario

Posted by - October 6, 2016

Share6डी न्यूज के प्रधान संपादक दीपक पचौरी को दिए साक्षात्कार में अण्णा हजारे ने देश के राजनीतिकों के लिए क्या-क्या नहीं कहा। उनके शब्द सुनेंगे तो हंसते-हंसते लोटपोट हो जाएंगे। देश के समाजसेवी संगठनों को अण्णा हजारे ने लुटेरा और लाचची करार दिया। अण्णा जी ने जिस तरह आज के एनजीओ के बारे में बातें

Read More

हथियारों का कुटीर उद्योग 9 – सिकलीगर बच्चों की मजबूरी है कट्टे बनाना

Posted by - September 26, 2016

Shareयह पूर्ण सत्य है कि बिना शिक्षा के एक समाज और देश कभी पनप नहीं सकता। इस देश की सबसे बड़ी विसंगति तो यहीं झलकती है कि आजादी के छह दशक बीत जाने के बाद भी समाज के एक बड़ा तबका शिक्षा से वंचित है। जिन इलाकों में जाने के लिए सड़के नहीं हैं, साधन

Read More

हथियारों का कुटीर उद्योग 8 – सिकलीगर बच्चों ने कहा कि बड़े होकर कट्टे बनाएंगे

Posted by - September 26, 2016

Share“जब हम पढ़-लिख नहीं सकते तो क्या करेंगे, वही जो बाप-दादा करते आए हैं। हम भी कट्टे बनाएंगे।“ यह था जवाब एक छोटे से बच्चे का जो सिकलीगर समाज के उस अंधियाले हिस्से में पल-बढ़ रहा है, जो उसे भी अपराधी बनने की तालीम दे रहा है। इन बच्चों में देश और समाज के लिए

Read More

हथियारों का कुटीर उद्योग 7 – हमारा कोई भरोसा नहीं करता – दीवान सिंह

Posted by - September 26, 2016

Shareसिकलीगरों के लिए हालात ऐसे बन चले हैं कि ये पूरा का पूरा समुदाय ही संकट के दौर से गुजर रहा है। उनकी कहानी पर कोई आसानी से भरोसा नहीं करता है। वे उन्हें तो बस अपराधी के अक्स में ही देखते हैं। ऐसे में सिकलीगर समाज के मुखिया दीवान सिंह के साथ क्यो-क्या होता

Read More

हथियारों का कुटीर उद्योग 6 – सिकलीगर न घर के, न घाट के

Posted by - September 26, 2016

Shareवे न तो घर के हैं, न घाट के। यह दर्द है उन सिकलीगरों का जिन्हें न तो सिख समाज अपना मानता है, न सरकार ने उन्हें अनुसूचित जनजाति का दर्जा दिया, न ही उन्हें मिलती है सरकारी या निजी कंपनियों में नौकरियां। उनके लिए तो जिंदगी का अर्थ ही अंधेरा है। हमने इस इलाके

Read More