कांग्रेस ने की फ्लिपकार्ट पर पाबंदी लगाने की मांग 

Download PDF

मुंबई- ऑनलाइन शॉपिंग के लिए प्रसिद्ध फ्लिपकार्ट विवादों में घिर गया है। कांग्रेस ने इस पर पांबदी लगाने की मांग की है। दरअसल औरंगाबाद में फ्लिपकार्ट से घातक हथियार खरीदी के मामले को लेकर पेंच बढ़ गया है। बुधवार को फिर खबर आई की फ्लिपकार्ट से शहर में हथियार की खरीदी की गई है। 

औरंगाबाद में पुलिस की अपराध शाखा ने छापा मारकर 12 तलवार, 13 चाकू, एक गुप्ती, एक कुकरी बरामद किया था। यह हथियार फ्लिपकार्ट से मंगाए गए थे। सोमवार की देर रात इस्टाकोर्ट सर्विस प्राइवेट लिमटेड कुरियर कंपनी के गोदाम पर छापा मारा गया था। यह गोदाम नागेश्वरवाडी और सिडोका क्षेत्र में है। पुलिस के अनुसार खेल के नाम पर यह हथियार पंजाब के अमृतसर से मंगाए गए थे। गोदाम में रखे गए पार्सल की जांच की गई तो उसमें से धारदार हथियार मिले। पुलिस ने नावेद खान, सागर पाडसवान, चंदू लाखुलकर और मुकेश पाचवणे को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बुधवार को भी छापा मारा था। इधर विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल ने  फ्लिपकार्ट  वेबसाइट पर पाबंदी लगाने की मांग की है। विखे पाटिल के मुताबिक दंगे से औरंगाबाद शहर धीरे-धीरे उभर रहा था। इसीबीच फ्लिपकार्ट ऑनलाइन वेबसाइट से धारदार तलवार, चाकू, गुप्ती, कुकरी, जांबिया जैसे 28 शस्त्र की खरीदी किए जाने का मामला सामने आया है। पुलिस की सतर्कता से आगे का अनर्थ टल गया। खुलेआम हथियार खरीदी- बिक्री का कारोबार चल रहा है , तो यह कानून-व्यवस्था के लिए घातक है। विखे पाटिल के अनुसार मौजूदा समय में ऑनलाइन शॉपिंग का प्रमाण बढ़ गया है। इसी में हथियार खरीदी का मामला सामने आना, कई सवाल खड़े करता है। औंरगाबाद में यह हथियार क्यों मंगाए गए थे। इसका दंगे से क्या संबंध है। हथियार खरीदी में और कौन-कौन शामिल है। इसकी उच्चस्तरीय जांच करके दोषियों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

Download PDF

Related Post