ईंधन दर वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस का  “ट्विट मोर्चा”

Download PDF
मुंबई- महाराष्ट्र सहित पूरे देश में ईंधन के दाम आसमान छू रहे हैं। पेट्रोलियम पदार्थों के दाम लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ आंदोलन छेड़ने का अनोखा तरीका अपनाया है। शनिवार को पार्टी को ओर से “ट्विट मोर्चा” निकाला जाएगा, जिसका नेतृत्व पार्टी के मुंबई अध्यक्ष संजय निरूपम करेंगे।
निरूपम के मुताबिक ईंधनों के दाम बढ़ने से जनता त्रस्त हो गई है। मुंबईकरों सहित देश के नागरिक की ओर से अन्यायकारक ईंधन दर वृद्धि के विरोध में शनिवार को ट्विट मोर्चा निकाला जाएगा। निरूपम ने कहा कि सामान्य जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात नहीं कर सकती। लेकिन ट्वीटर एक यैसा प्रभावी माध्यम है, जिससे अपनी भावनाएं किसी के भी सामने व्यक्त की जा सकती हैं। चाहे वे प्रधानमंत्री हों या मुख्यमंत्री। सभी जानते हैं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोशल मीडिया पर बड़े पैमाने पर सक्रिय रहते हैं। पेट्रोल-डीजल की महंगी कीमतों को लेकर देशभर में कांग्रेस की ओर से किए गए आंदोलन से भाजपा सरकार पर कोई असर नहीं पड़ रहा है। इसलिए ईंधन दर वृद्धि को लेकर जनता में निर्माण हुआ असंतोष सीधे प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री तक पहुंचाने के लिए “ट्विट मोर्चा” का आयोजन किया गया है।
निरूपम ने कहा कि पिछले साल बैंकों द्वारा लगाए गए अनावश्यक शुल्क के खिलाफ पार्टी ने ट्विट मोर्चा निकाला था। इस आंदोलन को देशभर से अच्छा प्रतिसाद मिला। इस ट्विट मोर्चा से इतना जबरदस्त प्रभाव पड़ा था कि आरबीआई को हस्तक्षेप करना पड़ा। केवल 72 घंटे में ग्राहकों पर ऑनलाइन डिजिटल लेनदेन पर लगाए गए शुल्क को कम कर दिया गया। इसीलिए इस साल ईंधन दर वृद्धि के विरोध में ट्विट मोर्चा निकाला जा रहा है। इस मोर्चे में भारी से भारी संख्या में शामिल होने की अपील जनता से की गई है।
समाजसेविका सुचेता दलाल ने कहा कि ईंधन दरवृद्धि से अमीर, गरीब, सामान्य सभी को तकलीफ हो रही है। यह केवल पेट्रोल-डीजल तक ही सीमित न रहकर सभी क्षेत्रों में महंगाई बढ़ गई है। डी़जल के दाम बढ़ने से जीवनावश्यक वस्तुओं के माल ढुलाई का खर्च बढ़ गया है। इस ट्विट मोर्चे में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को #TweetMorcha और #IndiaMaangeSastaTel  हैशटैग का उपयोग करके एक ही साथ ट्विट किया जा सकता है।
Download PDF

Related Post