ऱाफेल डील – कांग्रेस ने निकाला भाजपा सरकार के खिलाफ मोर्चा 

Download PDF
मुंबई- राफेल लड़ाकू विमान खरीदी मामले को लेकर आक्रामक हुई कांग्रेस ने गुरुवार को विशाल मोर्चा निकालकर मोदी सरकार के खिलाफ विरोध जताया। मुंबई के महालक्ष्मी स्थित रेसकोर्स से अगस्त क्रांति मैदान तक निकाले गए मोर्चे में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव मल्लिकार्जुन खड़गे सहित बड़े नेता शामिल थे। 

भाजपा सरकार के खिलाफ लगाए जमकर नारे

मोर्चे में कांग्रेसियों ने भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगाए। मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने राफेल डील में देश की जनता को गुमराह किया है। फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने साफ कर दिया है कि डील में घपला हुआ है। इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन को नैतिक जिम्मेदारी स्वीकार कर पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री एवं पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक चव्हाण ने कहा कि भारतीय सेना के लिए फ्रेंच कंपनी से राफेल विमान खरीदी में मोदी सरकार ने लगभग 41 हजार करोड़ रुपए का भ्रष्टाचार किया है।  राफेल खरीदी मामले की जांच संयुक्त संसदीय समिति के मार्फत कराने की मांग की गई है। संसद और बाहर बार-बार झूठ बोलकर प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री ने सदन तॆथा देश की जनता को गुमराह किया है। देश की सुरक्षा के लिए सीमा पर लड़नेवाले सैनिकों का भी अपमान किया गया है। राष्ट्रीय सुरक्षा को ढाल बनाकर मोदी राफेल घोटाले को छुपाने की कोशिश कर रहे हैं। मोदी का भ्रष्ट चेहरा सामने आ गया है। साबित हो गया है कि चौकीदार ही भागीदार है। अनिल अंबानी के फायदे के लिए राफेल डील बदल दी।
चव्हाण के मुताबिक यूपीए सरकार मेें एक राफेल विमान की कीमत 526.10 करोड़ रुपए सुनिश्चित की गई थी। परंतु प्रधानमंत्री मोदी अनिल अंबानीं को साथ लेकर फ्रांस गए और पुरानी डील को रद्द करके प्रति राफेल विमान 1670.7 करोड़ रुपए खरीदी का करार किया। नई डील में 41 हजार 205 करोड़ रुपए अधिक दिए गए। इसके बदले में 10-12 दिन पहले स्थापित की गई अनिल अंबानी की रिलायंस  डिफेन्स  कंपनी को 30 हजार करोड़ रुपए का ऑफसेट ठेका और 1 लाख करोड़ रुपए का लाइफ सायकल ठेका दिया गया। राफेल खरीदी लेनेदेन के माध्यम से प्रधानमंत्री मोदी ने देश की जनता का 1 लाख 30 हजार करोड़ रुपए अनिल अंबानी की रिलायंस डिफेन्स कंपनी को दिया है। इस मोर्चे में राष्ट्रीय नेता रणदीप सुरजेवाला, विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष राधाकृष्ण विखे पाटिल, पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, मुंबई अध्यक्ष संजय निरूपम, पूर्व विधान परिषद उपसभापति माणिकराव ठाकरे सहित पार्टी के अधिकांश सांसद, विधायक, नगरसेवक और भारी संख्या में कार्यकर्ता शामिल थे।
Download PDF

Related Post