कांग्रेस ने मुंबई में किया चुनावी घोषणापत्र जारी

Download PDF
मुंबई। दिल्ली के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व राज्यसभा सदस्य आनंद शर्मा ने गुरुवार को मुंबई में कांग्रेस का चुनावी घोषणा पत्र जारी किया। इस अवसर पर पार्टी के मुंबई अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा, दक्षिण मध्य मुंबई संसदीय सीट के उम्मीदवार एकनाथ गायकवाड, उत्तर मुंबई संसदीय सीट की उम्मीदवार उर्मिला मातोंडकर और उत्तर मध्य मुंबई संसदीय सीट से प्रत्याशी प्रिया दत्त सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद थे। हालांकि उत्तर पश्चिम संसदीय सीट से पार्टी के उम्मीदवार संजय निरूपम गैर-हाजिर रहे।
एनडीए गठबंधन पर साधा निशाना 
आनंद शर्मा के मुताबिक कांग्रेस की सरकार बनने के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद़दे पर जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई जाएगी। पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद को खत्‍म करने के लिए कांग्रेस कटिबद्ध है। योजना आयोग को वापस लाया जाएगा, जबकि नीति आयोग को खत्‍म किया जाएगा। शर्मा ने कहा कि कई महीनों की मेहनत के बाद किसानों, उद्यमियों, कारोबारियों, अर्थशास्त्रियों, शिक्षकों, विद्यार्थियों, महिला समूहों, डॉक्टरों, वकीलों व अन्य क्षेत्रों के विशेषज्ञों और बुद्धजीवियों से विचार-विमर्श करने के बाद पार्टी ने चुनावी घोषणा पत्र तैयार किया है। सुरक्षा के साथ ही लोगों के मौलिक अधिकारों को महत्व दिया गया है। कृषि, विकास, स्वास्थ, रोजगार, शिक्षा और मूलभूत सुविधाओं को प्राथमिकता दी गई है। रोजगार, निवेश और एक्सपोर्ट को ध्यान में रखते हुए बनाए गए इस घोषणा पत्र के लिए कांग्रेस राहत, सम्मान और अधिकार के लिए कटिबध्द है। कांग्रेस की सरकार आते ही कम वेतन धारक 5 करोड़ परिवारों को सालाना 72 हजार रुपए दिए जाएंगे। राशि सीधे उनके बैंक खाते में जमा की जाएगी। अस्पतालों को अत्याधुनिक बनाने के साथ ही स्पेशलिस्ट व डॉक्टरों के रिक्‍त स्थानों को भरा जाएगा।
शर्मा के मुताबिक कांग्रेस की सरकार बनने के बाद देश भर में नए केंद्रीय विद्यालय और नवोदय विद्यालयों की नींव रखने के अलावा नौकरी में महिलाओं को 33 प्रतिशत की भागीदारी बढ़ाई जाएगी। शर्मा के अनुसार कांग्रेस इस चुनाव में बड़ा उलटफेर करनी जा रही है, भाजपा के लिए यह चुनाव बड़ी चुनौती साबित होगा। भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए शर्मा ने कहा कि नोटबंदी ने देश की अर्थव्यवस्था पर गहरा आघात डाला है। एनडीए सरकार ने जबरन जीएसटी जनता पर थोपा है। कांग्रेस की सरकार बनने के बाद नोटबंदी और जीएसटी जैसी तमाम योजनाओं की जांच की जाएगी। उद्योग, व्यापार, उपभोक्ता व लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए नए सिरे से जीएसटी का मसौदा तैयार किया जाएगा। शर्मा ने कहा कि भाजपा सरकार में कृषि विकास दर घटकर आधी हो गई है। पीएम मोदी मीडिया के सामने बोलने की हिम्मत नहीं है, वे पूर्व नियोजित बयान ही देते हैं। उन्होंने पीएम मोदी को मीडिया मंच पर आकर खुली बहस की चुनौती दी। इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, पार्टी प्रदेश प्रवक्ता सचिन सावंत, भाई जगताप, अमीन पटेल, कृपाशंकर सिंह और नसीम खान आदि उपस्थित थे।
#Congress#release#election#manifesto#Mumbai
Download PDF

Related Post