धनगर समाज ने दी सोमवार को  राज्यव्यापी आंदोलन छेड़ने की धमकी 

Download PDF
मुंबई- मराठा आंदोलन के बाद अब धनगर समुदाय ने आरक्षण के मांग को लेकर राज्यव्यापी आंदोलन छेड़ने की धमकी दी है। यशवंत सेना ने एेलान किया है यदि धनगर समुदाय को एसटी वर्ग में शामिल कर आरक्षण की प्रक्रिया नहीं शुरू की गई तो 27 अगस्त सोमवार को धनगर समाज पूरे राज्य में सड़क पर उतरेगा। 

मुख्यमंत्री ने बुलाई धनगर समाज की बैठक 

यशवंत सेना की ओर से जारी किए गए बयान में भाजपा सरकार पर हमला बोला गया है। यशवंत सेना के सरसेनापति माधव गडदे ने कहा है कि वर्ष 2014 में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सरकार बनने के बाद पहली कैबिनेट बैठक में धनगर समाज को आरक्षण देने का फैसला लेने का वादा किया था। परंतु फडणवीस सरकार ने वादाखिलाफी की है। चार साल बीत जाने के बाद भी कोई कार्यवाही नहींं की गई। मौजूदा समय में धनगर समाज ओबीसी, प्रदेश में एनटी और बाबासाहेब आंबेडकर के संविधान में एसटी में आता है।
बीते 65 वर्ष से धनगर समाज को गुमराह किया जाता रहा। धनगर समाज ने उम्मीद के साथ भाजपा को सत्ता में लाया। परंतु फडणवीस सरकार भी पुरानी सरकार की राह पर चल रही है।
गडदे के अनुसार धनगर समाज में भाजपा सरकार के प्रति आक्रोश हैं। राज्य में धनगर और धनगड शब्द को लेकर संवैधानिक पेंच निर्माण किया गया है। दरअसल महाराष्ट्र में धनगड जाति अस्तित्व में है ही नहीं। फडवीस सरकार तत्काल धनगड ही धनगर हैं इस प्रस्ताव को मंजर कर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजे। साथ ही धनगर समाज को अनुसूचित जनजाति (एसटी) का प्रमाणपत्र देने का निर्देश राज्य के सभी जिलाधिकारियों को दिया जाए। अन्यथा यशवंत सेना धनगर समाज के न्याय और अधिकार के लिए सोमवार को सड़क पर उतरेगी।
मुख्यमंत्री ने बुलाई धनगर समाज की बैठक 
इसबीच, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने धनगर समाज के घोषित आंदोलन को संज्ञान में लेते हुए 27 अगस्त (सोमवार) को आरक्षण और अन्य मांगों को लेकर बैठक बुलाई है। यह बैठक सोमवार शाम सात बजे सहयाद्री अतिथिगृह में आयोजित की गई है। बैठक में  सामाजिक न्यायमंत्री राजकुमार बड़ोले सहित संबंधित विभागों के आला अधिकारी मौजूद रहेंगे। बातचीत के लिए समाज के बुद्धजीवियों और नेतृत्व कर रहे यशवंत सेना के पदाधिकारियों को आमंत्रित किया गया है।
Download PDF

Related Post