मुंबई में चुनाव आयोग की दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय परिषद 

Download PDF
मुंबई –  भारतीय संविधान के 73 एवं 74 वे संशोधन के रौप्य महोत्सव के उपलक्ष्य में मे राज्य चुनाव आयोग की ओर से 25 ओर 26 अक्टूबर को मुंबी में दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय परिषद का आयोजन होने जा रहा है। यह जानकारी चुनाव आयुक्त जेएस सहारिया ने दी है।

निकाय चुनाव से संबंधित अनेक महत्वपूर्ण मुद्दों पर विचार मंथन

राज्य चुनाव आयोग के कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में सहारिया ने परिषद के सेंबल का अनावरण किया। इस अवसर पर आयोग के सचिव शेखर चन्ने भी मोजूद थे। सहारिया ने बताया कि सशक्त लोकतंत्र और चुनाव विषय पर आधारित इस दो दिवसीय परिषद में निकाय चुनाव से संबंधित अनेक महत्वपूर्ण मुद्दों पर विचार मंथन होगा। विभिन्न देशों और राज्यों के चुनावी मशीनरी के प्रमुख प्रतिनिधि परिषद में शामिल होंगे। जनता के पास लोकतंत्र का स्वामित्व, चुनाव में पैसे का दुरूपयोग, वंचितों, उपेक्षितों और दुर्बल घटकों का सहभाग, झूठी खबरें, सोशल मीडिया का गैर-इस्तेमाल जैसे मसलों पर चर्चा सत्र का आयोजन होगा। चुनाव से संबंधित विभिन्न विषयों के जानकार अपना विचार व्यक्त करेंगे।  चुनाव आयुक्त ने बताया कि परिषद के आयोजन में एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर), राष्ट्रकुल स्थानिक स्वराज्य संस्था मंच (सीएलजीएफ), पुणे के गोखले राजनीति शास्त्र व अर्थशास्त्र संस्था, इंटरनेशनल इन्स्टिट्यूट फॉर डेमोक्रेसी एण्ड इलेक्ट्रोल असिस्टन्स (इंटरनेशनल आइडिया), मुंबई विश्वविद्यालय और रिसोर्स एण्ड सपोर्ट सेंटर फॉर डेमोक्रेसी (आरएससीडी) संस्था के ‘नॉलेज पार्टनर’ सहयोग कर रहे हैं। इसके अलावा देश- विदेश के विभिन्न हस्तियों का सहयोग मिला है।
चुनाव आयुक्त के मुताबिक राज्यपाल सी. विद्यासागर राव 25 अक्टूबर को परिषद का उद्घाटन करेंगेँ। ग्राम विकास मंत्री पंकजा मुंडे और विधान सभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल उपस्थित रहेंगे।  मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में 26 अक्टूबर को परिषद का समापन होगा। इस अवसर पर वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार और विधान परिषद में विपक्ष के नेता धनंजय मुंडे प्रमुख अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे। यह परिषद अंधेरी के लीला होटल में आयोजित की गई है।
Download PDF

Related Post