लोकसभा चुनाव 2019 सट्टा: पांचवें चरण ने भाजपा के भाव सुधरे

Download PDF
  • भाजपा की कुछ सीटें बढ़ाईं सट्टाबाजार ने
  • सटोरिए अभी भी भाजपा सरकार बना रहे
  • बुरका विवाद से होगा नुकसान भाजपा शिवसेना को
  • मुंबई सट्टाबाजार पर दबाव में भाव खोलने के आरोप

 

विवेक अग्रवाल

मुंबई, 3 मई 2019

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की स्थिति में थोड़ा सुधार होते हुए सट्टाबाजार बता रहा है। सट्टाबाजार के मुताबिक चौथे चरण के बाद भाजपा की स्थिति डांवाडोल हो गई थी। तब 236 से 238 सीटों तक ही पार्टी की सीटें सिमट गई थीं। पांचवें चरण के बाद 248 से 250 सीटें तक मिलने की उम्मीद सट्टाबाजार जता रहा है। सट्टा बाजार के मुताबिक कांग्रेस के लिए चौथे चरण में 72 से 74 सीटें थीं, अब बढ़ कर 76 से 78 सीटों पर जा पहुंची हैं। दोनों के लिए फिलहाल इवन मनी का भाव है।

 

किसकी बनेगी सरकार

सट्टाबाजार का कहना है कि भाजपा ने अकेले दम यदि 272 सीटें हासिल करके सरकार बनाई तो 3.50 रुपए का भाव है। एनडीए के सरकार बनाने पर 12 पैसे का भाव है। कांग्रेस को 272 सीटें मिलने पर 100 रुपए का भाव है। यूपीए के सरकार बनाने पर 50 रुपए का भाव है। महागठबंधन द्वारा सरकार बनाने पर 80 रुपए का भाव है।

 

वीआईपी सीटों को भाव

वीआईपी सीटों के मामले में सट्टाबाजार इस बार कुछ गजब के खेल रचा रहा है। नरेंद्र मोदी, राजनाथ सिंह, गोपाल शेट्टी की जीत पर जीरो मनी का भाव है।

 

राजनाथ सिंह के सामने लखनऊ से चुनाव लड़ रहीं पूनम सिन्हा की जीत पर 25 रुपए का भाव है। भोपाल में एक तरफ भाजपा की प्रत्याशी और मालेगांव बम धमाकों की आरोपी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की जीत पर 20 पैसे और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री तथा कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह की जीत पर 5 रुपए का भाव चल रहा है।

 

पटना से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे शत्रुघ्न सिन्हा की जीत पर 5 रुपए का भाव है, तो भाजपा प्रत्याशी रविशंकर की जीत पर 18 पैसे का भाव चल रहा है।

 

मथुरा में भाजपा प्रत्याशी और फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी की जीत पर 55 पैसे का भाव है, तो उनके सामने सबसे करीबी चुनौती देने वाले प्रत्याशी के लिए 1.75 रुपए का भाव है।

 

पीलीभीत में वरुण गांधी की जीत पर 20 पैसे तो उनके करीबी विरोधी की जीत पर 5 रुपए का भाव है।

 

अमेठी को सट्टाबाजार ने बहुत ही चुनौतीपूर्ण क्षेत्र माना है। यहां स्मृति ईरानी की जीत पर 70 पैसे और राहुल गांधी की जीत पर सवा रुपए का भाव चल रहा है।

 

दूसरी तरफ वायनाड में राहुल गांधी की जीत पर 40 पैसे और उनके सामने सबसे करीबी विरोधी पर 2.25 रुपए का भाव चल रहा है।

 

किस पार्टी को कितनी सीट

भाजपा के लिए सीटों के भाव फिर खुल गए हैं। 235 सीट पर 32 पैसे, 240 सीट पर 52 पैसे, 245 सीट पर 82 पैसे, 250 सीट पर 1.05 रूपए के भाव हैं। सटोरियों का कहना है कि भाजपा पर इसके आगे की सीटों के भाव नहीं खोले जाएंगे। बुकियों को लगता है कि अधिक सीटों के भाव खोलते हैं, तो आगे के चरणों के बाद भाव बढ़ाने पड़ेंगे। ईवीएम मशीनों में लगातार शिकायतें आने के कारण भाजपा के लिए अधिक सीटों के भाव सट्टेबाज नहीं खोल रहे हैं।

 

कांग्रेस के लिए सटोरियों ने 60 सीटों पर 28 पैसे, 65 सीटों पर 65 पैसे, 70 सीटों के लिए 80 पैसे, 75 सीटें हासिल होने पर एक रुपए का भाव दिया है। 80 सीटों के लिए 1.30 रुपए का भाव है। कांग्रेस के लिए सट्टेबाज इनके ऊपर की सीटों के भाव भी दे रहे हैं।

 

राज्यवार सीट आकलन

राज्यवार सीटों का आकलन भी सटोरियों ने किया है। सटोरियों का मानना है कि गुजरात की 26 में से भाजपा को लगभग 22 या 23 सीटें मिलेंगी, कांग्रेस को 3 सीटें हासिल हो सकती हैं।

 

मध्यप्रदेश की 29 से तकरीबन 22 सीटें भाजपा खींच लेगी, वहीं कांग्रेस को साथ अधिकतम सीटें मिलेंगी।

 

गोवा की सभी 2 सीटें भारतीय जनता पार्टी अपनी झोली में डालने में सफल रहेगी।

 

राजस्थान में 25 से 21 सीटें भाजपा को, 4 सीटें कांग्रेस को ही मिलेंगीं।

 

उत्तरप्रदेश में कुल 80 सीटों से तकरीबन 48 सीटें भाजपा ले जाएगी। महागठबंधन तकरीबन 27 सीटें खींच लेगी। यहां कांग्रेस को अधिकतम 4 सीटें मिलने की उम्मीद ही सट्टाबाजार जता रहा है।

 

सटोरियों का मानना है कि केरल में भाजपा को अधिकतम तीन सीटें मिलेंगीं। उड़ीसा में तकरीबन 13 से 15 सीटें भाजपा खींच सकती है।

 

महाराष्ट्र में शिवसेना को एक या दो सीटों की नुकसान होने की बात सट्टा बाजार कह रहा हैं।

 

पश्चिम बंगाल में मची रार

बुकियों का मानना है कि पश्चिम बंगाल में भाजपा ने जबरदस्त ताकत झोंक रखी है। भाजपा चाहती है कि किसी भी तरह उड़ीसा और पश्चिम बंगाल में पहुंच बनानी है। इसके लिए केंद्रीय मंत्रियों समेत तमाम दिग्गज भाजपा नेताओं को पश्चिम बंगाल में उतार रखा है। बुकियों का मानना है कि पश्चिम बंगाल में भाजपा को 15 या अधिक सीट मिल सकती हैं।

 

रमजान बनाम चुनाव

बुकियों का मानना है कि 5 मई 2019 से रमजान शुरू हो रहा है। इसके कारण भाजपा को फायदा होगा। मुस्लिम समुदाय रमजान में तेज गर्मी के कारण चुनाव के लिए बाहर कम ही निकलेगा। इसका सीधा फायदा भाजपा को होगा। नुकसान में कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी समेत वे दल होंगे, जिनका वोट बैंक मुस्लिम समुदाय का है।

 

मुंबई में सटोरियों की रेलमपेल

मुंबई में गोपाल शेट्टी की जीत पर शून्य भाव है जबकि उर्मिला मातोंडकर की जीत के लिए 40 रुपए का भाव है। पूनम महाजन की जीत पर 60 पैसे, तो प्रिया दत्त की जीत पर 1.50 रुपए का भाव है। गायकवाड़ की जीत पर 1.25 रुपए, मिलिंद देवड़ा की जीत पर 65 पैसे, अनिल सावंत की जीत पर 1.45 रूपए, उदय कोटक की जीत पर 45 पैसे का भाव चल रहा है।

 

कौन बनेगा प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री पद के लिए नरेंद्र मोदी पर 15 पैसे, राहुल गांधी पर 60 रुपए, मायावती पर 110 रुपए और ममता बनर्जी के लिए 150 रुपए के भाव सट्टाबाजार में चल रहे हैं।

 

बुरके का संकट

शिवसेना के मुखपत्र सामना में मुस्लिम महिलाओं के बुर्के पर प्रतिबंध की खबर के कारण भाजपा और शिवसेना को नुकसान होने की बात भी सट्टाबाजार बता रहा है। इसका सीधा फायदा कांग्रेस, बीएसपी और एसपी को मिलना तय माना जा रहा है।

 

आईपीएल के बाद वारे-न्यारे

सट्टाबाजार का मानना है कि पांचवा चरण खत्म होने तक तकरीबन 85,000 करोड रुपए का सट्टा लग चुका है।

 

सट्टेबाज बता रहे हैं कि अभी तीन चरण चुनाव के बाकी हैं। सारा कामकाज मोबाइल पर होने की वजह से इस साल धरपकड़ भी काफी कम हो रही है।

 

सटोरियों का कहना है कि आईपीएल के कारण चुनाव सट्टे पर भाव भी रकम भी कम लग रही है। आईपीएल 12 मई 2019 को खत्म होगा। इसके बाद तेजी से चुनाव सट्टे पर रकम लगना शुरू होगी।

 

सटोरियों की साख दांव पर

चौथे चरण के बाद सटोरियों ने सिर्फ और सिर्फ भाजपा के लिए भाव खोले थे। उससे यह संदेश गया कि सट्टाबाजार भी भाजपा के सामने नतमस्तक हो गया है।

 

तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों में जिस तरह सट्टे बाजार के चुनावी समीकरण गड़बड़ आए थे, उसके बाद मुंबई के चुनावी सट्टे में लोगों के विश्वास कम हुआ है। पंटरों का विश्वास कम हुआ है।

 

2019 के लोकसभा चुनाव में पहले दिन से ही जिस तरह भाजपा के पक्ष में भाव खुल रहे हैं, उसे लेकर पंटरों के मन में संदेश के बादल भी उमड़ने लगे हैं। कुछ लोगों का मानना है कि सत्तारूढ़ दल की ताकत के सामने या दबाव के चलते सट्टा बाजार भी झुक चुका है

 

#Nationalism #Pulwama #Balakot #Pakistan #Terror #Terrorism #Vivek_Agrawal #Congress #BJP #Bhartiy_Janta_Party #Narendra_Modi #Satta #Betting #Election #Loksabha #Bookie #Money_Wallets #App #Smartphone #Application #Dubai #Singapore #India #Priyanka_Gandhi #Rahul_Gandhi #विवेक_अग्रवाल #सट्टा #चुनाव #भाजपा #भारतीय_जनता_पार्टी #नरेंद्र_मोदी #लोकसभा #बुकी #एप #दुबई #सिंगापुर #दुबई #भारत #प्रियंका_गांधी #राहुल_गांधी #राष्ट्रवाद #पुलवामा #बालाकोट #पाकिस्तान #आतंकवाद

Download PDF

Related Post