शिवसेना पर बरसे मुख्यमंत्री, बोले हमें न सिखाओ केसरिया की परिभाषा

Download PDF

मुंबई- मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को परोक्षरूप से शिवसेना पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि केवल खून केसरिया होने से कुछ नहीं होता, खून सभी का लाल होता है। परंतु हफ्ताउगाही करनेवाले हमें केसरिया रक्त के बारे में न सिखाएं। हमने केसरिया झंडा भारतीयत्व के लिए उठा रखा है।

भाजपा की ओर से वनगा परिवार को टिकट देने के बारे में उन्होंने शिवसेना पक्षप्रुमख उद्धव ठाकरे और उद्योग मंत्री सुभाष देसाई से बात की थी। दोनों ने सहयोग देने वादा किया था। जिस शिवसेना ने वनगा के निधन पर संवेदना भी प्रकट नहीं की, उसने वनगा के पुत्र श्रीनिवास को उम्मेदवारी दे दी। शिवसेना ने हमारे साथ विश्वासघात किया है – देवेंद्र फडणवीस

पालघर संसदीय सीट के उपचुनाव में बोइसर में प्रचार सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने शिवसेना पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि शिवसेना ने आसू पोंछने के बहाने अवसर साधा है। भाजपा के पूर्व सांसद दिवंगत चिंतामन वनगा ने नौ बार चुनाव लड़ा। कुछ बार जीते तो कुछ बार हारे, लेकिन उन्होंने कभी अपने कंधे से कमल का झंडा नहीं उतारा। भाजपा की ओर से वनगा परिवार को टिकट देने के बारे में उन्होंने शिवसेना पक्षप्रुमख उद्धव ठाकरे और उद्योग मंत्री सुभाष देसाई से बात की थी। दोनों ने सहयोग देने वादा किया था। जिस शिवसेना ने वनगा के निधन पर संवेदना भी प्रकट नहीं की, उसने वनगा के पुत्र श्रीनिवास को उम्मेदवारी दे दी। शिवसेना ने हमारे साथ विश्वासघात किया है। भाजपा ने चिंतामन वनगा का कार्य आगे ले जाने के लिए राजेंद्र गावित को उम्मीदवारी दी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बोइसर में नगरपालिका की स्थापना की जाएगी। साथ ही यहां घनकचरा प्रबंधन परियोजना भी लगाई जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि रोटी-कपड़ा-मकान और शिक्षा-स्वास्थ-रोजगार के लिए सरकार काम कर रही है। देश के 125 करोड़ भारतीय मोदी की संपत्ति हैं। असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए स्वास्थ्य सुविधा, सामाजिक सुरक्षा और मकान उपलब्ध कराने की योजना प्रधानमंत्री ने लाई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उच्च शिक्षा के लिए सभी को अनुदान देनेवाला महाराष्ट्र देश का एकमात्र राज्य है। लगभग 602 पाठ्यक्रमों के लिए छात्रवृत्ति दी जा रही है। सरकार सभी को समान अवसर दे रही है। इसमें जाति धर्म का भेदभाव नहीं किया जाता।

मुख्यमंत्री के मुताबिक स्वास्थ्य के लिए कई योजनाएं मुख्यमंत्री सहायता निधि के माध्यम से चलाई जा रही हैं। अब 5 लाख रुपए तक की आर्थिक मदद देनेवाली स्वास्थ्य बीमा योजना प्रधानमंत्री मोदी ने लाई है। इसीतरह मुद्रा योजना के माध्यम से युवाओं को बड़े पैमाने पर कर्ज देकर रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। विरोधियों पर तंज कसते हुए मुख्यमंत्री ने कहा जिन्हें अच्छे काम नहीं दिखाई दे रहे, वे घरों-घरों में जाकर उज्वला योजना का उजाला देंखे। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले, महिला एवं बाल कल्याण मंत्री पंकजा मुंडे, मंत्री गिरीश महाजन और विष्णू सावरा आदि मौजूद थे।

Download PDF

Related Post