इस्माईल युसुफ कॉलेज के फेल विद्यार्थियों ने किया मंत्रालय का घेराव 

Download PDF
मुंबई। जोगेश्वरी के इस्माईल युसुफ कॉलेज में विज्ञान शाखा से बारहवीं की परीक्षा दे चुके आधे से ज्यादा विद्यार्थी फेल हो गए हैं और जो पास हुए उनके नंबर बेहद कम हैं। इस मामले को लेकर शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े से मिलने विद्यार्थी और उनके अभिभावक सोमवार को मंत्रालय पहुंच गए। विद्यार्थियों ने आरोप लगाया कि प्रेक्टिकल परीक्षा का अंक ही कॉलेज प्रबंधन ने बोर्ड को नहीं भेजा, जिसके कारण विद्यार्थी फेल हो गए हैं। इस संबंध में कॉलेज प्रबंधन कोई जवाब देने को तैयार नहीं है।
विद्यार्थियों ने बताया कि इस्माईल युसुफ कॉलेज में पढ़नेवाले 311 विद्यार्थियों ने बारहवीं की परीक्षा दी थी। उसमें से 154 विद्यार्थी फेल हो गए हैं। जो पास हुए हैं, उनके अंक बेहद कम हैं। कहीं न कहीं गड़बड़ी हुई है। प्रेक्टिकल परीक्षा के नंबर विद्यार्थियों को नहीं दिए गए हैं। दूसरी ओर कॉलेज प्रबंधन का कहना है। प्रेक्टिकल परीक्षा के नंबर दिए गए हैं, लेकिन ठोस सबूत कॉलेज देने को तैयार नहीं है।
मंत्रालय के मुख्यप्रवेश द्वार के सामने सोमवार को 100 से अधिक विद्यार्थी और उनके 50 से ज्यादा अभिभावक पहुंचे थे। वे शिक्षा मंत्री तावड़े से मुलाकात करने की मांग कर रहे थे। हालांकि उस समय शिक्षा मंत्री तावड़े मंत्रालय में मौजूद नहीं थे। जिसके कारण उनकी शिक्षा मंत्री से मुलाकात नहीं हो सकी। विद्यार्थी मंत्रालय के सामने ही कई घंटे बैठे रहे। विद्यार्थी परिषद ने चेतावनी दी है, यदि दो दिनों में मसले का हल नहीं निकाला गया तो तीव्र आंदोलन छेड़ा जाएगा। विद्यार्थियों ने बताया कि इस्माईल युसुफ कॉलेज में पढ़नेवाले 311 विद्यार्थियों ने बारहवीं की परीक्षा दी थी। उसमें से 154 विद्यार्थी फेल हो गए हैं। जो पास हुए हैं, उनके अंक बेहद कम हैं। कहीं न कहीं गड़बड़ी हुई है। प्रेक्टिकल परीक्षा के नंबर विद्यार्थियों को नहीं दिए गए हैं। दूसरी ओर कॉलेज प्रबंधन का कहना है। प्रेक्टिकल परीक्षा के नंबर दिए गए हैं, लेकिन ठोस सबूत कॉलेज देने को तैयार नहीं है। इस संबंध में कॉलेज प्रबंधन से लिखित शिकायत की जा चुकी है।
विद्यार्थियों की मांग है कि कॉलेज में सालभर तक गणित का शिक्षक नहीं था, तो इस विषय की परीक्षा किसने ली और नंबर किसने दिए, इसकी लिखित जानकारी दी जाए। आधे से ज्यादा विद्यार्थी फेल हुए हैं, लिहाजा जांच के लिए समिति का गठन किया जाए। प्रेक्टिकल और अन्य नंबर विद्यार्थियों को मिले, इसलिए कॉलेज शिक्षा मंडल से संपर्क करके आगामी दो दिनों में मसले का हल निकाले। कॉलेज प्रबंधन ने प्रेक्टिकल और अन्य नंबर शिक्षा मंडल को कब भेजा, इसकी विस्तार से जानकारी दी जाए।
Download PDF

Related Post