किसानों का भाजी फेंकों आंदोलन

Download PDF
मुंबई- मंत्रालय के सामने शुक्रवार को उस्मानाबाद के किसानों ने भाजी फेंककर सरकार प्रति विरोध जताया। किसानों ने सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की। किसानों के आक्रामक तेवर को देखते हुए मंत्रालय की सुरक्षा चाक चौबंद कर दी गई। वहां मौजूद पुलिसवालों ने किसीतरह भाजी फेंकनेवाले किसानों को काबू में किया और उन्हें पकड़ कर मरीन लाइन पुलिस स्टेशन ले जाया गया।
अचानक पहुंचे किसानों ने मंत्रालय के बाहर भांजी फेकनी शुरू कर दी। सरकार विरोधी नारे और शोरगुल के बीच सुरक्षा में तैनात जवान सकते में आ गए। फौरन पुलिस जवानों ने मोर्चा संभाल लिया।
अचानक पहुंचे किसानों ने मंत्रालय के बाहर भांजी फेकनी शुरू कर दी। सरकार विरोधी नारे और शोरगुल के बीच सुरक्षा में तैनात जवान सकते में आ गए। फौरन पुलिस जवानों ने मोर्चा संभाल लिया। किसी तरह प्रदर्शनकारी किसानों को काबू में किया गया। किसानों ने बताया कि उस्मानाबाद जिले में किसानों की हालत खराब है और उनके कृषि उपज की वाजिब दर नहीं मिल रही है। कई किसान अपनी फसलों को खेत में ही नष्ट कर रहे हैं।
उस्मानाबाद के किसान अपनी कृषि उपज टमाटर व अन्य भाजी लेकर मुंबई में बेचने के लिए आए थे। किसान अपने खेत की उपज भाजीपाला को कांदिवली व बोरीवली में बेचना चाहते थे,लेकिन उन्हें स्थानीय प्रशासन ने बेचने नहीं दिया। इसके बाद किसानों ने भाजीपाला लाकर मंत्रालय के सामने फेंक दिया और सरकार के विरोध में नारेबाजी शुरु कर दिया। स्थानीय पुलिस ने यहां भाजीपाला भेजने वाले किसानों को पकड़ लिया है और कार्रवाई कर रही है। उधर तत्काल महानगरपालिका के सफाई कर्मियों को बुलाकर मंत्रालय के सामने की साफ सफाई कराई गई है।
Download PDF

Related Post