रुपया जीरो – सोना हीरो

Download PDF

भारत में जैसे ही 500 और 1000 रुपए की करंसी बंद होने की खबर सामने आई, लोग सोना-चांदी खरीदने के लिए जौहरियों की दुकानों पर टूट पड़े। इसके चलते सोने और चांदी के भावों में भारी उछाल आ गया है।

कल रात तक मुंबई में सोना 50 हजार रुपए तोला तक बिका है।  आज भी सोने का यही भाव चल रहा है।

सराफा में ही नहीं, काफी सारे और भी इलाकों में सोने का कारोबार अपने-अपने स्तर पर निजी तौर पर भी लोग कर रहे हैं।

लोगों ने इतना सोना खरीदा कि अब जौहरियों और थोक सोना कारोबारियों के पास इस मंहगी धातु का मुंबई में अकाल ही पड़ गया है। उनका सारा स्टाक दो दिन में ही खत्म हो गया।

जब आयकर विभाग के अधिकारियों को यह पता चला कि जौहरी और सोना कारोबारी भारी मुनाफे पर नकद लेकर सोना बेच रहे हैं तो उनके दफ्तरों और दुकानों पर छापामारी का सिलसिला शुरू हो गया। देश के कुछ और हिस्सों में भी आयकर विभाग के छापों की जानकारियां आई हैं। यह बात और है कि इन छापों में आयकर विभाग के साथ अधिक कुछ नहीं लगा है।

जब आयकर अधिकारियों को कुछ नहीं मिल सका तो एक हिटलरशाही हुकुम उन्होंने दनदना दिया। उन्होेंने सभी जौहरियों को आदेश दिया है कि 8 नवंबर की शाम को प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद से लेकर आज तक का पूरा सीसीटीवी कैमरे का फुटेज उनके पास जमा कराएं। अब सवाल यह है कि अचानक सभी जौहरियों के सीसीटीवी कैमरों के डीवीआर खराब हो चले, तो आयकर विभाग क्या करेगा?

Download PDF

Related Post