एवरेस्ट फतह करनेवालों का राज्यपाल ने किया सम्मान

Download PDF

मुंबई- दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट को फतह करने वाले चंद्रपुर के पांच आदिवासी विद्यार्थियों का राज्यपाल सी. विद्यासागर राव ने सम्मान किया। राज्यपाल ने राज्य सरकार की ओर से जारी 25-25 लाख रुपए का नकद पुरस्कार देकर पर्वतारोहियों का सम्मान बढ़ाया।

राज्य सरकार की ओर से वित्त मंत्री और चंद्रपुर के पालक मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने पांचो विद्यार्थियों को 25-25 लाख रुपए इनाम देने की घोषणा की थी। एकात्मिक आदिवासी परियोजना चंद्रपुर, जिला प्रशासन व आदिवासी विकास विभाग ने आदिवासी विद्यार्थियों के बीच साहस व शौर्य को बढ़ावा देने के लिए ‘मिशन शौर्य’ शुरू किया है।

राज्यपाल वे कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आदिवासी युवक व युवतियों के लिए माउंटेनियरिंग बटालियन बनाने को लेकर पत्र लिखेंगे। उन्होंने इस मिशन को आयोजित करने के लिए राज्य सरकार के ट्राइबल डेवलपमेंट विभाग की भी प्रशंसा की। इस मौके पर ट्राइबल डेवलपमेंट की सचिव मनीषा वर्मा भी मौजूद थीं। एवरेस्ट पर झंडा लहरानेवाले में कविदास काठमोड़े, उमाकांत मडावी, विकास सोयाम, प्रमेश आले व मनीषा धुर्वे शामिल हैं। इन सभी ने 16 मई को एवरेस्ट पर फतह करने में सफलता हासिल की। सभी विद्यार्थी चंद्रपुर के रहनेवाले हैं, जो आदिवासी मूल से आते हैं।

राज्य सरकार की ओर से वित्त मंत्री और चंद्रपुर के पालक मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने पांचो विद्यार्थियों को 25-25 लाख रुपए इनाम देने की घोषणा की थी। एकात्मिक आदिवासी परियोजना चंद्रपुर, जिला प्रशासन व आदिवासी विकास विभाग ने आदिवासी विद्यार्थियों के बीच साहस व शौर्य को बढ़ावा देने के लिए ‘मिशन शौर्य’ शुरू किया है। जिसके तहत इन युवाओं को एवरेस्ट फतह करने के लिए भेजा गया था।

Download PDF

Related Post