महाराष्ट्र में भी  शुरू हुई आईपीपीबी सेवा, मुख्यमंत्री ने किया उद्घाटन

Download PDF
मुंबई- इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक ऑफ इंडिया (आईपीपीबी) की  शुरूआत राज्य में भी हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली में आईपीपीबी का शुभारंभ किया तो मुख्यमंत्री देवेंद्र फढणवीस ने मुंबई जीपीओ में आईपीपीबी की गिरगांव शाखा का उद्घाटन किया। साथ ही डाक कवर जारी किया गया और आईपीपीबी के कुछ खाता धारकों को भी क्यूआर कार्ड जारी किए गए।

आईपीपीबी को गांव-गांव पहुंच जाएगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि  देश के आर्थिक विकास में भारत पोस्ट पेमेंट बैंक की शुरुआत एक सुनहरा मौका है। इससे विकास से दूर लोगों के वित्तीय समावेश को पूरा किया जाएगा। आईपीपीबी गांव-गांव पहुंच जाएगा। आईपीपीबी के विस्तार से महाराष्ट्र के विकास में योगदान मिलेगा। देश के आर्थिक विकास के इतिहास में, आईपीपीबी बैंक का नया अध्याय जुड़ गया है। इससे देश में आर्थिक क्रांति आएगी। बैंकों की देश में एक लाख शाखाएं हैं। इसमें आईपीपीबी की तीन लाख से ज्यादा शाखाएं शामिल हो गई हैं। देश के विकास के सत्तर वर्षों में एक बड़ा वर्ग आर्थिक विकास से वंचित था। उन्हें इस बैंक के माध्यम से वित्तीय परिवेश से जोड़ा गया है। मुख्यमंत्री के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी की पहल से शुरुआत में पच्चीस करोड़ परिवारों का बैंक खाता खोला गया था। अब डाक विभाग की बैंक सीधे उनके दरवाजे पर पहुंच गई है। डाक विभाग का पूरा विस्तार नेटवर्क एक बड़ी संभावना होगी। फडणवीस ने कहा कि ई-मेल, एसएमएस और सोशल मीडिया के बढ़ते उपयोग के कारण डाक खातों के अस्तित्व पर चर्चा हुई। लेकिन अब प्रौद्योगिकी के उपयोग ने डाक विभाग को और अधिक संगठित कर दिया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मनरेगा, स्वास्थ्य और महिला एवं बाल विकास विभाग जैसी सरकारी योजनाओं का अनुदान अब सीधे लाभार्थियों के खातों में  स्थानांतरित कर दिया जाएगा। बिचौलियों की दाल नहीं गलेगी। मुख्य पोस्टमास्टर जनरल अग्रवाल ने कहा कि आगामी दिनों में राज्य में 12 हजार 830 शाखाएं शुरू की जाएंगी। इसके लिए पच्चीस हजार डाक सेवक अपनी सेवा देंगे। भारत में पहली बार एक साथ  3250 में डाकघर कार्यालय (प्रवेश केंद्र) और 650 शाखाओं में डिजीटल बैंक का उद्घाटन किया गया। राज्य में 40 शाखाओं और 200 प्रवेश केंद्रों का उद्घाटन किया गया। शहरी और ग्रामीण अंचलों के नागरिकों को स्थाई सेवा और किफायती कैसलेश सुविधा इस बैंक के माध्यम से मिल सकेगी।
डिजीटल बैंक से बिना किसी हस्तक्षेप या सहायता के आप अपने खाते को शुरू कर सकते हैं। डाक सेवक घर-घर जाकर इस संबंध में लोगों को जानकारी देंगे। लिहाजा कोई भी डिजीटल आर्थिक लेनदेन, खरीदी -बिक्री, लाइट बिल, टेलीफोन बिल जैसे लेनेदेन आसानी से किए जा सकते हैं। इस अवसर पर भाजपा विधायक राज पुरोहित, आशिष शेलार, कालीदास कोलंबकर , राहुल नार्वेकर, सरदार तारासिंह, प्रवीण दरेकर, मुख्य पोस्टमास्टर जनरल एच सी अग्रवाल पोस्ट विभाग के वित्त महाप्रबंधक केएस बरियार आदि मौजूद थे।
Download PDF

Related Post