सिंचाई घोटाला : जांच के लिए दो एसआईटी नियुक्त

Download PDF

2019 के चुनावों से पहले अजीत पवार की मुसीबतें बढ़ीं

 
मुंबई- राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता व पूर्व उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की मुसीबतें भविष्य में बढ़ती नजर आ रही हैं। बुधवार को राज्य के मुख्य सचिव सुमित मलिक ने हाईकोर्ट की नागपुर खंडपीठ में हलफनामा पेश कर सिंचाई घोटाले की जांच के लिए दो एसआईटी नियुक्त करने की जानकारी दी है। इनमें एक एसआईटी नागपुर के और दूसरी एसआईटी अमरावती विभाग में हुए सिंचाई घोटाले की जांच करेगी।
 मुख्य सचिव की ओर से हाईकोर्ट में दिए गए प्रतिज्ञापत्र में कहा गया है कि नागपुर में गोसीखुर्द सिंचाई परियोजना की जांच एक अलग एसआईटी के मार्फत और अमरावती विभाग में हुए सिंचाई परियोजना घोटाले की जांच दूसरी अलग एसआईटी के मार्फत कराई जाएगी।
सिंचाई विभाग में हुए घोटालों की जांच की मांग को लेकर हाईकोर्ट की नागपुर खंडपीठ में याचिका दायर की गई थी। इस मामले की पिछली सुनवाई में कोर्ट ने सरकार को अब तक हुई कार्रवाई की जानकारी देने का निर्देश दिया था। इस पर बुधवार को राज्य के मुख्य सचिव ने कोर्ट को बताया कि राज्य सरकार ने सिंचाई घोटाले की जांच के लिए 2 एसआईटी नियुक्त कर रही है।
 
याचिकाकर्ता के वकील श्रीधर पुरोहित ने बताया कि मुख्य सचिव की ओर से हाईकोर्ट में दिए गए प्रतिज्ञापत्र में कहा गया है कि नागपुर में गोसीखुर्द सिंचाई परियोजना की जांच एक अलग एसआईटी के मार्फत और अमरावती विभाग में हुए सिंचाई परियोजना घोटाले की जांच दूसरी अलग एसआईटी के मार्फत कराई जाएगी। इन दोनों एसआईटी के प्रमुख जिला पुलिस अधीक्षक को बनाया जाएगा ।
Download PDF

Related Post