ए.एम.यू. कैंपस की सारी इंटरनेट सेवाएं बंद

Download PDF

जिन्ना तस्वीर विवाद ने हिंसक मोड़ लिया

अलीगढ़, उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में जिन्ना की तस्वीर को लेकर घमासान बढ़ता ही जा रहा है। इस मामले को सियासी बहस अपने चरम पर पहुँच गयी है वहीं हिन्दू और मुस्लिम छात्रा संघठनों और पुलिस में हुए ताज़े टकराओ में बहुत से छात्रा घायल हुए हैं. मामला बढ़ता देख जिला प्रशासन ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी कैंपस की सारी इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं। इसे फिलहाल 5 मई तक बंद करने के आदेश दिए गए हैं।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के छात्र संघ ने पांच दिन तक एकेडमिक कार्य ठप रखने का एलान किया है। परीक्षा व प्रैक्टिकल भी नहीं होंगे। दशकभर में ऐसा पहली बार हुआ है। एएमयू प्रशासन, टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टॉफ का भी इन्हें मूक समर्थन है।

इसबीच, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर खड़े हुए विवाद के बीच प्रमुख मुस्लिम संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद के महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने कहा कि जिन्ना को ‘हमारे पूर्वजों ने आदर्श नहीं माना था और द्विराष्ट्र के उनके सिद्धांत को ठुकरा दिया था और पाकिस्तान के संस्थापक को हम भी आदर्श नहीं मानते।’’ 

मौलाना मदनी ने आज एक बयान में कहा, ‘‘हमारे बुजर्गों ने जिन्ना को अपना आदर्श नहीं माना और न ही उनके सिद्धांत का समर्थन किया बल्कि इस देश में हमारा रहना ही इस बात का सबूत है कि हमने उनके द्विराष्ट्र सिद्धांत को सिरे से खारिज कर दिया। जिन्ना को लेकर हमारी भी वही राय है जो हमारे बुजुर्गों की थी।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘ एक तस्वीर को बहाना बनाकर जिस तरह से कुछ लोगों ने विश्वविद्यालय में विरोध प्रदर्शन किया और पुलिस ने निहत्थे छात्रों पर लाठियां भांजी, वह किसी भी लोकतांत्रिक देश में नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। देश के एक बड़े विश्वविद्यालय को निशाना बनाया जाना निंदनीय है।’’

Download PDF

Related Post