हवाईअड्डे के नामकरण को लेकर शिवसेना और एनसीपी में ठनी

Download PDF
मुंबई- कोल्हापुर के ओझर हवाई अड्डे नामकरण को लेकर शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस के बीच ठन गई है। शिवसेना पार्टी प्रमुख बालासाहेब ठाकरे जबकि एनसीपी हवाई अड्डे को स्व. यशवंतराव चव्हाण नाम देना चाह रही है। शिवसेना सांसद हेमंत गोड़से प्रधानमंत्री और केंद्रीय गृहमंत्री को इस संबंध में ज्ञापन सौंप चुके है। जबकि एनसीपी विधायक जयंत जाधव मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को प्रस्ताव दे चुके है। लिहाजा ओझर हवाई अड्डे को ठाकरे या चव्हाण नाम देने को लेकर राज्य की सियासत गरमाने के आसार हैं।
शिवसेना सांसद हेमंत गोड़से ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह को ज्ञापन देकर हवाई अड्डे को शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे का नाम देने की मांग की है।
विमान की उड़ाने ठप्प हैं लेकिन सेवा मुहैया कराने के बजाए दोनों पार्टियां ओझर के जानोरी में निर्माणाधीन नये हवाई अड्डे को नामकरण को लेकर आमने-सामने आ गई हैं। शिवसेना सांसद हेमंत गोड़से ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह को ज्ञापन देकर हवाई अड्डे को शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे का नाम देने की मांग की है। स्वयं गोड़से ने इस संदर्भ में जानकारी पत्रकारों को दी है। हालांकि इससे पहले आघाडी सरकार के समय सैकड़ों करोड़ रुपए खर्च कर तैयार होनेवाले नये हवाई अड्डे को स्व. यशवंतराव चव्हाण का नाम देने की मांग एनसीपी विधायक जयंत जाधव 2 अप्रैल को विधान सभा में चर्चा कर की थी। वे मुख्यमंत्री को प्रस्ताव भी भेज चुके है।
विधायक जाधव की मानें तो कोल्हापुर हवाईअड्डे को छत्रपति शाहू महाराज का नाम देने के प्रस्ताव को विधानसभा में पारित कर राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने घोषणा की थी। विधायक जाधव ने यह उदाहरण देते हुए ओझर हवाई अड्डे को स्व. चव्हाण नाम देने की मांग की है। इस पर सरकार द्वारा सकारात्मक विचार करने का आश्वासन दिया गया था। नामकरण को लेकर शिवसेना-एनसीपी के बीच ठने विवाद के बीच सरकार ठाकरे या चव्हाण इन दोनों में से किस नाम पर मुहर लगाती है, इस पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं।
Download PDF

Related Post