निजी स्कूलों पर नकेल कसने बनेगा कानून 

Download PDF
मुंबई । विद्यार्थियों से मनमानी फीस वसूलनेवाले निजी स्कूलों पर नकेल कसने के लिए राज्य सरकार ने नया कानून बनाने का निर्णय लिया है। फीस पर नियंत्रण लाने के लिए जल्द यह कानून लाया जाएगा। यह घोषणा मंगलवार को विधान परिषद में शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने की।!

अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों की मनमानी होगी बंद !

 शिवसेना के विलास पोतनीस ने ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के तहत दहिसर के रुस्तम जी समेत अन्य अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों की मनमानी का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि निजी स्कूली की फीस पर कोई नियंत्रण नहीं है। जब चाहे तब वे मनमानी फीस बढ़ाते रहते हैं। पोतनीस ने कहा कि यहां पर पहली क्लास के लिए पेरेंट्स टीचर्स एसोसिएशन ने 10 प्रतिशत फ़ीस बढ़ाने पर अपनी सहमति दी थी। बावजूद इसके स्कूल प्रबंधन ने फीस में 40 प्रतिशत का इजाफा कर दिया। जो अभिभावक अपने बच्चों की फीस भरने में सक्षम नहीं हैं, उनके ऊपर प्रति महीने 100 रुपए की लेट फाइन चार्ज की जा रही है।
 
इसके जवाब में तावड़े ने कहा कि इस मामले की महापालिका व विभागीय स्तर पर जांच कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि जल्द नया कानून लाया जाएगा। शिक्षा मंत्री तावड़े ने कहा कि इससे पहली से पांचवी कक्षा तक के विद्यार्थियों के फीस की जानकारी अभिभावकों को मिल पाएगी। 
Download PDF

Related Post