महाराष्ट्र में महंगी हुई शराब

Download PDF

मुंबई। नए साल के मौके पर फडणवीस सरकार ने शराब के शौकीन को बड़ा झटका दिया है। राज्य सरकार ने विदेशी शराब पर 20 प्रतिशत तक उत्पादन शुल्क बढ़ा दिया है।

नए साल के मौके पर फडणवीस सरकार का बड़ा झटका

शराब के मामले में महाराष्ट्र में आबकारी शुल्क पहले से सबसे ज़्यादा था जिसके कारण शराब यहाँ सबसे मेंहगी पहले से ही थी. इस नए शुल्क के बाद शराब और महँगी हो जाएगी. सरकार ने बहरत में बनाने वाली विदेशी शराब (IMFL) पर ये शुल्क बढ़ाया है. इस हिसाब से देख जाए तो इस बढ़ोतरी का देशी शराब, आयातित शराब और बीयर के मूल्य पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

सरकार ने ये क़दम राज्य सरकार की कमाई में इज़ाफ़ा करने के लिए किया है. इस फैसले से सरकार की तिजोरी में 500 करोड़ रुपए के इजाफे का अनुमान है।  उत्पादन शुल्क मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने बताया कि वर्ष 2013 से उत्पादन शुल्क में कोई बढ़ोतरी नही की गई थी। इसके  बाद यह फैसला  लिया गया है।  नई दरें 1 जनवरी से  लागू हो गई है । राज्य  सरकार  के अनुसार अप्रैल से दिसंबर 2017 तक आबकारी विभाग से 8 हजार 915 करोड़ के राजस्व की आमदनी हुई है।जबकि दिसंबर 2018 तक  आमदनी 16.6 प्रतिशत से बढ़ाकर 10 हजार 400 करोड़ रुपए हो गई। इस वित्तीय वर्ष में  एक्साइज डिपार्टमेंट के लिए 14 हजार 343 करोड़ रुपए का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 

शराब विक्रेताओं को अंदेशा है की इस बढ़ोतरी से महाराष्ट्र में पड़ोसी राज्यों से अवैध शराब लाए जाने की घटनाओं में वृद्धि होगी जिससे सरकार को नुक़सान ही होगा.

Download PDF

Related Post