सीएम फडणवीस आउटस्टैंडिंग लीडरशिप पुरस्कार से सम्मानित

Download PDF
मुंबई-  महाराष्ट्र राज्य में कई विकास योजनाओं को शुरू करने और नए विकासपर्व का शुभारंभ करने के लिए अमेरिका में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को सम्मानित किया गया। महाराष्ट्र के राजनीतिक नेतृत्व क्षमता का बखान विदेशों में भी हो रहा है। अमेरिका के जॉर्ज टाऊन युनिवर्सिटी, इंडिया इनिशिटीव और सेंटर फॉर इंटरनेशनल स्टडीज की ओर से आय़ोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को सम्मानित किया गया।
विश्व बैंक ने भी महाराष्ट्र राज्य में शुरू होनेवाले कई महत्त्वाकांक्षी प्रोजेक्ट को आर्थिक सहायता उपलब्ध करने पर सहमति जताई है। इसके अलावा मोबिलिटी कंपनी की ओर से भी राज्य में एकीकृत यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए सेंटर ऑफ एक्सिलेंस का निर्माण करने के लिए निवेश करने पर करार किया गया है।
शुक्रवार को वॉशिंग्टन में जॉर्ज टाऊन युनिवर्सिटी, इंडिया इनिशिटीव और सेंटर फॉर इंटरनेशनल स्टडीज की ओर से आय़ोजित कार्यक्रम में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को आऊटस्टैंडिंग लीडरशिप इन डेवलपमेंट का पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। विश्व बैंक ने भी महाराष्ट्र राज्य में शुरू होनेवाले कई महत्त्वाकांक्षी प्रोजेक्ट को आर्थिक सहायता उपलब्ध करने पर सहमति जताई है। इसके अलावा मोबिलिटी कंपनी की ओर से भी राज्य में एकीकृत यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए सेंटर ऑफ एक्सिलेंस का निर्माण करने के लिए निवेश करने पर करार किया गया है। फोर्ड संस्था की ओर से 341करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा। एमएमआरडीए और फोर्ड के बीच 24 नवंबर 2017 को एक करार पर हस्ताक्षर किए गए थे। इस करार के अनुसार फोर्ड ने सार्वजनिक बस सुविधाओं, रेल्वे, मेट्रो, ऑटो, टैक्सी और अन्य सार्वजनिक यातायात साधनों को समावेश करते हुए एकीकृत यातायात व्यवस्था की रूपरेखा बनाई है।
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि राज्य में परिवर्तन युग का नया शुभारंभ हुआ है। उनकी सरकार ने कई महत्वपूर्ण योजनाओं को शुरू किया है। अमेरिका में मिला यह पुरस्कार महाराष्ट्र की जनता को समर्पित है। उन्होंने कहा कि चार साल पहले जब उन्होंने राज्य की बागडोर संभाली थी, राज्य में सूखा और भयंकर अकाल की समस्या से लोगों को जूझना पड़ रहा था। उनकी सरकार ने शाश्वत कृषि के लिए जलसंवर्धन योजनाओं को प्रोत्साहित किया। राज्य के सूखाग्रस्त इलाकों में जलयुक्त शिवार अभियान को प्रभावी तरीके से लागू किया गया। गांवों को टैंकरमुक्त करने की योजना को साकार किया गया। जनसहभागिता से सरकार ने इस अभियान को सफल बनाया है। आम जनता की ओर से भी सहयोग किया और श्रमदान के साथ ही निधि जुटाने का भी प्रयास किया। लागों ने जल संचय की जरूरत को समझा और इसे बचाने में सहयोग किया।
फडणवीस ने कहा कि उनकी सरकार ने वीजन डॉक्युमेंट में जो वादे किए थे, उसे लगभग पूरा कर लिया गया है। उनकी सरकार ने किसानों के लिए बेहतर योजनाएं बनाई हैं, फसलों को उचित कीमत दिया है और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने की दिशा में बेहतर काम किया है। इसके लिए विभिन्न अभियानों को चलाया जा रहा है। भविष्य में डिजिटल अर्थव्यवस्था को मजबूत किया जाएगा, यह महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। गांवों को डिजिटल सुविधाओं से लैस किया जा रहा है। सड़कों को गांवों से जोड़ा जा रहा है। डिजिटल कनेक्टिविटी पर जोर दिया जा रहा है। समृद्धि महामार्ग के जरिए राज्य के 24 जिलों को लॉजिस्टिक और कृषि प्रक्रिया उद्योगों के लिए तैयार किया जा रहा है। राज्य में रोजगार के नए अवसर तैयार किए जा रहे हैं।
Download PDF

Related Post