मराठा आरक्षण के लिए सरकार कटिबद्ध- मुख्यमंत्री

Download PDF

मुंबई- मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भरोसा दिलाया है कि राज्य सरकार मराठा समाज को आरक्षण देने के लिए कटिबद्ध है, इसके लिए कानूनी प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा किया जाएगा।

दिनभर चला बैठकों का दौर

मराठा समुदाय के हिंसक आंदोलन के कारण राज्य सरकार पर दबाव बढ़ गया है। मसले का हल कैसे निकाला जाए, इसके लिए मुख्यमंत्री ने गुरुवार को सहयाद्री गेस्ट हाऊस में बुद्धजीवियों की बैठक बुलाई थी।  बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि मराठा समाज को निर्धारित समयसीमा में आरक्षण दिया जाएगा। मराठा समाज के बुद्धजीवियों और मान्यवरों से बातचीत करने के बाद उम्मीद है राज्य में शांति स्थापित हो जाएगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि मान्यवरों ने बैठक में आरक्षण पर कई सुझाव दिए हैं। उन सुझावों पर सरकार निश्चित विचार करेगी। आरक्षण देने के संबंध में सरकार सकारात्मक है। मराठा समाज को आरक्षण देने के संबंध में कानूनी प्रक्रिया शुरू है।

इस बैठक में मुख्यमंत्री के अलावा राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल, शिक्षा मंत्री विनोद तावडे़, शिवसंग्राम पार्टी के विनायक मेटे, अभिनेता सयाजी शिंदे, अमोल कोल्हे, उद्योजक भैरवनाथ ठोमरे, कलादिग्दर्शक नितिन चंद्रकांत देसाई, इतिहासकार  पांडुरंग बलकवडे, डॉ. आ. ह. सालुंखे, सुवर्ण कोकण संस्था के डॉ. सतीश परब मौजूद थे। बैठक का निमंत्रण छत्रपति शाहू महाराज, इतिहासकार जयसिंगराव पवार, प्रतापसिंह जाधव को भी दिया गया था। परंतु तीनों बैठक में शामिल नहीं हुए। तीनों का कहना है कि 58 मोर्चे निकालने के बाद भी सरकार यदि मराठा समाज की भावना नहीं समझ सकी तो चर्चा करने का क्या तुक। कितनी बार चर्चा की जाएगी।  मुख्यमंत्री ने दादर स्थित वसंत स्मृति कार्यालय में भाजपा के विधायकों के साथ भी बैठक कर उनका पक्ष जाना। शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी विधायकों की बैठक के बाद भाजपा ने भी अपने विधायकों के साथ बैठक आयोजित कर आरक्षण के मुद्दे पर मंथन किया। भाजपा की बैठक में लिंगायत, धनगर और मुस्लिम समाज के आरक्षण को लेकर भी विचार विमर्श किया गया।

बताया जाता है कि आगामी दिनों में मुख्यमंत्री के नेतृत्व में भाजपा मंत्रियों और नेताओं की दिल्ली में भी बैठक होनेवाली है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आरक्षण के संबंध में समीक्षा बैठक करेंगे।  इधर सकल मराठा क्रांति मोर्चा के नेताओं का कहना है कि इस बैठक से हमरा कोई संबंध नहीं है। क्रांति मोर्चा के नेताओं ने गुरुवार को बैठक की। इस बैठक में आंदोलन की आगे की रणनीति बनाई गई।

Download PDF

Related Post