महाराष्ट्र में दिवाली पर सातवें वेतन आयोग का तोहफा 

Download PDF

मुंबई- राज्य सरकार ने अपने अधीन कर्मचारियों को दिवाली पर विशेष तोहफा देगी। वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने इस दिवाली पर सरकारी कर्मचारियों को सातवां वेतन लागू करने का एेलान किया है। सातवां वेतन आयोग की सिफारिश लागू करने पर सरकार पर 21 हजार 530 रुपए का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

म.प्र. में प्राध्यापक संघ,धरना 14वें दिन भी रहा जारी

मध्य प्रदेश महाविद्यालयीन प्राध्यापक संघ के प्रांतीय आव्हान पर 7वें वेतन मान की मांग को लेकर आंदोलन के तृतीय चरण अंतर्गत जेएच कॉलेज में 14वें दिन भी धरना जारी रहा। प्राध्यापकों ने धरने से पूर्व दानदात्री मां जयवंती हॉक्सर की प्रतिमा के चरण स्पर्श कर आर्शीवाद लेकर धरने पर बैठे। संभागीय सचिव डॉ.विजेता चौबे व जेएच कॉलेज इकाई अध्यक्ष प्रो.बीआर खातरकर ने बताया कि तृतीय चरण में 20 जुलाई तक शाम 3 से 5 बजे तक प्रवेश कार्य का बहिष्कार किया जा रहा है। डॉ.एसडी डोंगरे ने कहा कि प्राध्यापक निरंतर आंदोलन कर रहें हैं परन्तु शासन की ओर कोई भी सकारात्मक पहल नहीं की गई है। शासन बड़े हुए वेतनमान का 50 प्रतिशत राशि ही देती है ऐसे में शासन को क्या दिक्कत हो रही है, समझ से परे हैं। इस मौके पर डॉ.रमाकांत जोशी ने बताया कि जब तक हमारी मांगे पूर्ण नहीं होती हैं महाविद्यालयीन प्राध्यापक संघ आंदोलन करता रहेगा।

नागपुर में चल रहे मानसून सत्र में पत्रकारों के सरकारी निवास  सुयोग पर बातचीत करते हुए मुनगंटीवार ने बताया कि केंद्र सरकार ने 1 जनवरी 2016 से केंद्रीय कर्मचारियों को सातवां वेतन लागू किया है। उसके अनुसार राज्य सरकारी कर्मचारियों को लाभ दिया जाएगा, इसके लिए बजट में दस हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। सरकारी कर्मचारियों की पहले की बकाया राशि उनके भविष्य निधि के खाते में जमा की जाएगी। मार्च 2019 के अंत तक 4 लाख 61 हजार करोड़ रुपए तक कर्ज होने का अंदाज है।  उन्होंने बताया कि पांच लाख करोड़ रुपए के कर्ज के विरोधी दल के आरोपों में कोई तथ्य नहीं है।

वित्त मंत्री के मुताबिक प्रदेश में सकल घरेलू आय 26 लाख 96 हजार करोड़ रुपए की तुलना में 4 लाख 61 हजार करोड़  का कर्ज बहुत अधिक नहीं है। सकल घरेलू आय पर 25 प्रतिशत तक कर्ज निकालने की मर्यादा है। अपना कर्ज का प्रमाण 16.5 प्रतिशत है। जीएसटी कानून लागू होने से राज्य की आय में बढ़ोत्तरी होने की जानकारी उन्होंने दी। मुनगंटीवार ने बताया कि अप्रैल से जून 2018 तक इन तीन महीने में आय 35 हजार 915 करोड़ यानी 39.52 प्रतिशत राजस्व की बढ़ोत्तरी हुई है। अप्रैल से जून 2017 में 25 हजार 742 करोड़ रुपए का राजस्व जमा हुआ था।

Download PDF

Related Post