महाराष्ट्र के भी कई जिलों में बाढ़ की तबाही 

Download PDF
मुंबई- महाराष्ट्र के कई जिलों में जोरदार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। तेज बारिश की वजह से नंदुरबार जिले के नवापुर तहसील में 5 लोगों की मौत हो गई है। इसी तरह अकोला, धुले, यवतमाल, नासिक व गोंदिया में बारिश की वजह से कई इलाके जलमग्न हुए हैं। कई मवेशियों के बह जाने की खबर है। कई मकान ढह गए हैं तो पानी में डूबने से फसलें बर्बाद हुई हैं। बाढ़ प्रभावित जिलों में प्रशासकीय व्यवस्था राहत व बचाव कार्य में लगी हुई है।

नंदुरबार जिले के नवापुर तहसील में 5 लोगों की मौत

भारी बारिश का प्रतिकूल असर आम जनजीवन पर पड़ रहा है। नदियां और नाले ऊफान पर हैं। गोंदिया जिले में भारी बारिश की वजह से देवरी तहसील में जनजीवन प्रभावित हुआ है। अकोला जिले में औसतन 90 फीसदी बारिश हुई है। यहां पुर्णा, मोरना नदी में बाढ़ आ गई है। बालापुर में स्थित मुर्तिजापुर तहसील में काटेपूर्णा नदी खतरे के निशान से उपर बह रही है। यहां नदी की तट पर बसे शेलू बोंढ़े, भटोरी, दाताला , मंगरुल कांबे आदि गांवों में पानी की जमाव हो जाने से फसल पर असर पड़ा है और जनजीवन प्रभावित हुआ है। यवतमाल जिले में दिग्रस तहसील बारिश से पूरी तरह प्रभावित हुई है। यहां धानोरा में बाजीराव डेरे व सुकली में अंकुश साबले तेज बारिश में बह गए हैं। इन दोनों को ढूंढने का काम जारी है। यहां बारिश से 937 घर गिर गए हैं। बहुत से जानवर पानी में बह गए।
नंदुरबार जिले के नवापुर में 140 मिमी बारिश दर्ज की गई है। इससे यहां सरपणी नदी में बाढ़ आ गई है। तेज बारिश की वजह से यहां पानी का बहाव बढ़ गया था, जिससे 6 लोग पानी में बह गए हैं। यहां बारिश की वजह से 5 लोगों की मौत हो चुकी है। जिलाधिकारी कार्यालय की ओर से यहां मृतकों की पहचान करने का काम जारी है। साथ ही बारिश के पानी में बह गए लोगों को भी ढूंढने का काम युद्धस्तर पर जारी है|
मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में तेज बारिश की चेतावनी दी है। चंद्रपुर जिले में भारी बारिश की वजह से सडक़ों पर पानी जमा हो गया है, जिससे यहां कई गांवों का संपर्क टूट गया है। धुले में भी बारिश ने अपना रंग दिखाया है। यहां भी बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ है। नासिक में बाढ़ जैसे हालात निर्माण होने की संभावना बनी हुई है।
Download PDF

Related Post