मराठा समाज ने दी एक दिसंबर से राज्यव्यापी आंदोलन छेड़ने की धमकी

Download PDF
मुंबई- आरक्षण की मांग को लेकर मराठा समुदाय का एक दिसंबर से फिर राज्यव्यापी ठोक आंदोलन शुरू करने की चेतावनी मराठा क्रांति मोर्चा की ओर से दी गई है। क्रांति मोर्चा के समन्यवकों ने चेताया है कि यदि भारत सरकार और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मराठा समाज को नवंबर तक आरक्षण देने के वादे को नहीं पूरा किया तो एक दिसंबर से प्रदेशभर में आंदोलन होंगे।

आंदोलन बेहद भयंकर और बड़े पैमाने पर होगा

मराठा क्रांति ठोक मोर्चा के समन्वयक आबासाहेब पाटिल के मुताबिक भाजप सरकार और  मुख्यमंत्री फडणवीस ने मराठा समाज को नवंबर 2018 तक आरक्षण देने की घोषणा की है। हम इसकी फीडबैक ले रहे हैं। यदि  नवंबर तक आरक्षण नहीं दिया गया तो 1 दिसंबर से फिर से पूरे महाराष्ट्र में आंदोलन छेड़ा जाएगा। यह आंदोलन बेहद भयंकर और बड़े पैमाने पर होगा। पिछले आंदोलन में मराठा समाज के कई युवकों पर मामले दर्ज किए गए हैं, आगामी तीन दिनों में सभी मामले वापस लेने की मांग पाटिल ने की है। पाटिल ने बताया कि सरकार ने सभी मामले वापस लेने का आश्वासन दिया था। हालांकि तारीख नहीं बताई गई थी, जिसके कारण कई युवक फरार हैं। कईयोें पर धारा 307 और 353 के तहत गंभीर मामले दर्ज किए गए हैं। समन्वय समिति इन लोगों के साथ खड़ी है। उनके बचाव में हम कानूनी लड़ाई भी लड़ेगें। समाज के सभी लोगों की मदद के लिए जल्द समिति की ओर से हेल्पलाइन नंबर और मोबाइल एप शुरू किया जाएगा। मुंबई में जायजा बैठक बुलाकर मराठा क्रांति मोर्चा के समन्वयकों ने यह निर्णय लिया। प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए आबासाहेब पाटिल ने बताया कि सरकार और कोर्ट ने हमारी सभी मांगें पूरी करने का आश्वासन दिया है। इसकी फीडबैक लेने के लिए हमने कुछ टीम बनाई है। टीम के सदस्य लगातार सरकार के संपर्क में रहेंगे।
पाटिल के मुताबिक पिछले आंदोलन में हुआ हिंसाचार मराठा समाज के लोगों ने नहीं किया था। आंदोलन में घुसकर कुछ समाजकंटकों ने जानबूझकर हिंसा की। सरकार ने हमारे बीच फूट डालने का षडयंत्र रचा था। पथराव और आगजनी करनेवाले कुछ परप्रांतीय थे। मराठा समाज को बदनाम करने की साजिश रची गई थी। कुछ लोग मराठा समाज को गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि मुस्लिम, धनगर, लिंगायत सभी समुदाय के लोगों ने हमें समर्थन दिया है। अन्य समाज के आरक्षण को ठेस पहुंचाए बगैर हमें आरक्षण चाहिए।  हमारी अन्य मांगों में आरक्षण के बाद मेगा भर्ती लेने,  आत्महत्या करनेवालों के परिजनों को 10 लाख रुपए आर्थिक मदद और एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की हमारी मांग है। सरकार की ओर से हमारी मांगें मान लेने का भरोसा दिलाया गया है।  अण्णासाहेब पाटिल आर्थिक विकास महामंडल के  माध्यम से हर जिले में 100 युवकों को कारोबार शुरू करने के लिए 10 लाख रुपए का कर्ज दिया जाए। साथ ही मराठा समुदाय के विद्यार्थियों को स्कूल-कॉलेजों में फीस में 50 प्रतिशत सहुलियत देने संबंधी सूचना तत्काल शिक्षा संस्थानों को भेजी जाए।
Download PDF

Related Post