मटका माफिया के बुरे दिन #09: पप्पू सावला का पूरा पंचनामा

Download PDF

विवेक अग्रवाल

मुंबई, 26 जुलाई 2019

  • मेन बाजार मटके से जोड़ी माया
  • कई बार हो चुका है गिरफ्तार
  • रतन खत्री से छीना था मेन बाजार
  • अरुण गवली को देता है हफ्ता मटका से

मटके की माया से मटका किंग पप्पू सावला और उसके बेटे विरल सावला ने सैंकड़ों की संपत्ति खड़ी की है। उनकी कंस्ट्रक्शन कंपनी में सैंकड़ों करोड़ रुपए के निवेश पर भी पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

पुलिस जांच कर रही है कि मटके की माया का परिवार और करीबी लोगों के लिए बेनामी तौर पर कहां-कहां निवेश हुआ है।

पप्पू की संपत्ति के पीछे पुलिस

पुलिस की जांच में कई कारोबारी संपत्तियां शामिल हैं। मालाड, सोमवारी बाजार स्थित सेज प्लाजा के निवेश की पुलिस अंदरूनी तौर पर जांच कर रही बताते हैं।

पुलिस अधिकारियों का दावा है कि उन्हें मोक्ष प्लाजा और सन प्लाजा शॉपिंग मॉल एसवी रोड, बोरीवली के बारे में भी यही जानकारी मिली है। दोनों ही शॉपिंग सेंटर है।

मुंबई के गोराई इलाके में स्थित ज़ूम प्लाजा शॉपिंग मॉल, वी मॉल प्लाजा चंदवरकर लाइन रोड, बोरीवली (प), सेज लक्ष्मी डेवलेपर, घोड़बंदर रोड, ठाणे और काशीमीरा रोड पर होटल फाउंटेन के पीछे बना करोड़ों रुपए का शानदार फार्म हाऊस भी पुलिस जांच के दायरे में है।

पप्पू सावला, जिस जगह रहता और दफ्तर चलाता है, वह हीरजी एनक्लेव, एलटी रोड, बोरीवली (प) में स्टेशन के पास ही स्थित है। पुलिस यह पता करने की कोशिश कर रही है कि इन संपत्तियों की खरीद-फरोख्त या निर्माण में रकम कहां से आई है?

पप्पू हफ्तावसूली में गिरफ्तार

कांदिवली क्राइम ब्रांच ने जनवरी 2018 में मटका माफिया पप्पू सावला और उसके खास साथी राजू दवे को हफ्तावसूली मामले में गिरफ्तार किया। डीसीपी निसार तांबोली ने एनबीटी के मुताबिक दोनों ने एक बिल्डर को उसके परिवार के अपहरण की धमकियां दी थीं।

पुलिस दस्तावेजों के मुताबिक पप्पू का बिल्डर से एक इमारत बनाने के लिए 2012 में करार हुआ था। पप्पू को इस बिल्डर को पांच करोड़ रुपए चुकाने थे। बिल्डर ने रकम के लिए पप्पू से कई बार कहा लेकिन वह हीलेहवाले करता रहा। सितंबर, 2017 में पप्पू ने यह करारनामा अपनी तरफ से खारिज कर दिया। उसने बिल्डर से कहा कि करारनामे के मुताबिक 33 करोड़ रुपए पप्पू को बिल्डर देगा।

बिल्डर का आरोप है कि पप्पू ने इसके बदले में जबरन कांदिवली के तीन हजार वर्ग फुट का भूखंड अपने नाम पर लिखवा लिया। बोरिवली में पांच दुकानें भी पप्पू को देने के लिए दबाव बनाया। बिल्डर ने दुकान देने से इंकार किया तो पप्पू ने उसके परिवार के अपहरण की धमकी दे डाली।

मामला बोरीवली थाने में जा पहुंचा, जहां से क्राइम ब्रांच में गया। सीनियर इंस्पेक्टर चिमाजी अढाव ने पप्पू और राजू को गिरफ्तार कर लिया।

जामसांडेकर हत्याकांड में गिरफ्तारी

पप्पू को 2008 में पार्षद जामसांडेकर हत्याकांड में गिरफ्तार हुआ था। गिरोह सरगना अरुण गवली को वित्त पोषण का आरोप पप्पू पर लगा था। मोका कोर्ट ने इस केस में पप्पू को आरोप मुक्त कर दिया।

वसंत शाह हत्याकांड में गिरफ्तारी

सन 1998 में पप्पू को मटका किंग कल्याणजी भगत के बेटे वसंत भगत हत्याकांड में भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इस मामले में भी पप्पू बरी हो चुका है।

राजू दवे भी खिलाड़ी कम नहीं

पप्पू सावला का कामकाज सभाल रहा राजू दवे हवाला समेत तमाम पुलिस व सरकारी विभागों और राजनेताओं को संभालता है।

पुलिस अधिकारियों को रिश्वत खिला कर उनके इलाके में मटका चलाने की सेटिंग भी राजू दवे ही करता रहा है। पता चला है कि मेन बाजार मटका के विरोधियों पर पुलिस वालों का मुंह मोतियों से भर कर छापामारी करवाने में राजू दवे उस्ताद है।

Hashtags

#Matka #Main_Bazar #Pappu_Savla #Viral_Savla #Satta #Batting #Mumbai #Police #Kolhapur #Gujrat #Vivek_Agrawal #Crime #Mafia #Arun_Gwali #Hirji_Savla #MCOCA #Kalyan_Bazar #Worli_Bazar #Jaya_Bhagat #Salim_Mulla #Shama_Mulla #Attack #मटका #मेन_बाजार #पप्पू_सावला #विरल_सावला #सट्टा #जुआ #मुंबई #पुलिस #कोल्हापुर #गुजरात #विवेक_अग्रवाल #अपराध #माफिया #अरुण_गवली #हीरजी_सावला #मोका #कल्याण_बाजार #वरली_बाजार #जया_भगत #सलीम_मुल्ला #शमा_मुल्ला #हमला

Download PDF

Related Post