सातारा बस हादसा- जरा सा नजर हटी और हो गई भीषण दुर्घटना  

Download PDF
मुंबई- दापोली के बालासाहेब सावंत कोकण कृषि विश्वविद्यालय के 33 कर्मचारियों की शनिवार को सड़क हादसे में जान चली गई। यह दुर्घटना मिनी बस ड्राईवर प्रशांत भांबेड की जरा सी असावधानी के कारण हो गई। दुर्घटना में एकमात्र बचे प्रकाश सावंत देसाई के मुताबिक चालक ने थोड़ी से नजर पीछे घुमाई और इतने में ही बस सड़क छोड़कर खाई में जा गिरी। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस भीषण दुघर्टना पर शोक जताया है।

दुर्घटना में एकमात्र बचे प्रकाश सावंत देसाई के मुताबिक चालक ने थोड़ी से नजर पीछे घुमाई और इतने में ही बस सड़क छोड़कर खाई में जा गिरी।

विश्वविद्यालय के कर्मचारी हर साल बारिश का लुत्फ उठाने पिकनिक मनाने जाते थे। शनिवार और रविवार को अवकाश होने के चलते इस साल बारिश में महाबलेश्वर में पिकनिक का आयोजन किया गया था। शनिवार सुबह साढ़े छह बजे 34 लोग दापोली से पिकनिक मनाने निकले थे। सबसे पहले ग्रुप फोटो खींचा, इसके बाद बस महाबलेश्वर के लिए निकल पड़ी। दो दिन बारिश का आनंद उठाने के लिए सभी उत्सुक थे। मौज-मस्ती के साथ बस आगे बढ़ रही थी। सातारा के पोलादपुर-महाबलेश्वर मार्ग पर स्थित आंबनेली घाट के पास जब बस पहुंची, तो सभी की मौज-मस्ती और हंसी मजाक में मस्त थे। इसी बीच बस चालक भांबेड़ ने मुड़कर पीछे देखा और बस सड़क से उतर गई। ड्राईवर ने ब्रेक दबाया लेकिन मिट्टी होने के कारण बस फिसलती हुई तकरीबन 500 फुट गहरी खाई में जा गिरी। यह दुर्घटना करीब दस बजे हुई। यह जानकारी हादसे में बचे प्रकाश देसाई ने दी है।
प्रकाश देसाई कृषि विश्वविद्यालय में सहायक अधीक्षक पद पर कार्यरत हैं। बस जब खाई में गिर रही थी, तभी वे झटका खाकर बस से बाहर गिर पड़े। पेड़ की टहनियों में वे अटक गए। साहस दिखाते हुए वे किसी तरह वृक्षों के सहारे ऊपर आ पाए। उन्हें गंभीर चोटें आई हैं। खाई से निकलकर सड़क पर आकर उन्होंने वाहनों को रोककर घटना की जानकारी दी। पुलिस को सूचना दी गई। आस-पास के गांववालों को भी जानकारी दी गई। कृषि विश्वविद्यालय को भी सूचित किया गया। सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस और स्थानीय लोगों ने घटना स्थल पर पहुंचकर बचाव कार्य शुरू किया।
Download PDF

Related Post