विधायकों और पुलिस अधिकारी आपस में भिड़े, जाँच के आदेश  

Download PDF
मुंबई- मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने प्रशासन को सख्त हिदायत दी है कि विधायकों का सम्मान रखा ही जाना चाहिए। प्रशासनिक अधिकारी द्वारा यदि विधायकों का अपमान किया गया तो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। विधायकों को विश्वास में लेकर ही काम करने की चेतावनी मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक अधिकारियों को दी है।

पंद्रह दिन के अंदर पुलिस महानिदेशक के माध्यम से मामले की जांच

मुख्यमंत्री ने कहा कि विधायकों का अपमान और उनके साथ अधिकारियों के दुर्व्यवहार की जो शिकायत है, उसकी पंद्रह दिन के अंदर पुलिस महानिदेशक के माध्यम से जांच की जाएगी। जांच की रिपोर्ट आने के बाद संबंधित अधिकारी पर कार्रवाई की जाएगी। ऐसा आश्वासन मुख्यमंत्री ने गुरुवार विधान सभा में दिया।
बीते बुधवार को सदन में सभी पार्टियों के विधायकों ने  प्रशासनिक अधिकारियों विशेषकर पुलिस दल के अधिकारियों द्वारा विधायकों का अपमान किए जाने का आरोप लगाया था। विधायकों का कहना था कि अपमानित करनेवाले अधिकारियों के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश करने के बाद भी कार्रवाई नहीं होती। गुरुवार को इसके जवाब में  मुख्यमंत्री नेअधिकारियों को सख्त हिदायत दी।
उन्होंने कहा कि एकबार परीक्षा पास होने के बाद अधिकारी जन्म भर पद पर बैठा रहता है, परंतु जनप्रतिनिधि को प्रत्येक क्षण परीक्षा के सामने जाना पड़ता है।विधायकों ने कानून की धारा 353 में संशोधन करने की मांग की थी।  इस पर मुख्यमंत्री ने  विधीमंडल के दोनों सदनों की संयुक्त समिति गठित करने का अनुरोध अध्यक्ष हरिभाऊ बागडे से किया। यह समिति तीन महीने में अपनी रिपोर्ट देंगी। समिति की जो सिफारिश होगी, उसके अनुसार सरकार निर्णय करेगी। ऐसा मुख्यमंत्री स्पष्ट किया।
Download PDF

Related Post