मोदी सरकार ने किया जनता के साथ विश्वासघात- कांग्रेस

Download PDF

मुंबई- कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रव्रक्ता डॉ. अभिषेक मनु सिंघवी ने एनडीए सरकार के चार साल पूरे होने पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार ने पिछले चाल साल में जनता के साथ विश्वासघात किया है। पिछले चार साल में सरकार द्वारा निर्माण की गई परिस्थिती उत्सव मनाने जैसे नहीं बल्कि शोक मनाने जैसी है।

सिंघवी ने कहा कि युपीए सरकार के कार्यकाल में कृषि विकास दर 4.2 प्रतिशत थी, जो मोदी सरकार में गिरकर 1.9 प्रतिशत पर आ गई है। मोदी सरकार ने उत्पादन खर्च के आधार पर 50 प्रतिशत अधिक समर्थन मूल्य देने का आश्वासन दिया था। बावजूद इसके चुनाव होने के तीन महीने बाद सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर करके मोदी सरकार ने कहा यह संभव नहीं है।

मनु सिंघवी शनिवार को मुंबई दौरे पर थे। काग्रेंस के राजीव गांधी कार्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए शिंघवी ने भाजपा के चार साल पूरे होने पर निशाना साधा। उन्होने कहा मोदी सरकार भले ही चार साल पूरे होने पर जश्न मना रही हो। असल में सरकार ने पिछले चार साल में देश की जनता के साथ  विश्वासघात के अलावा कुछ नहीं किया है। सिंघवी ने कहा कि युपीए सरकार के कार्यकाल में कृषि विकास दर 4.2 प्रतिशत थी, जो मोदी सरकार में गिरकर 1.9 प्रतिशत पर आ गई है। मोदी सरकार ने उत्पादन खर्च के आधार पर 50 प्रतिशत अधिक समर्थन मूल्य देने का आश्वासन दिया था। बावजूद इसके चुनाव होने के तीन महीने बाद सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर करके मोदी सरकार ने कहा यह संभव नहीं है। देश में शक्कर का बड़े पैमाने पर उत्पादन हुआ है, परंतु सरकार ने पाकिस्तान से 15 हजार मैट्रिक टन चीनी आयात की है। पीएम मोदी ने हर साल दो करोड़ लोगों को नौकरी देने का वादा किया था। परंतु नोटबंदी के कारण 15 लाख लोगों की नौकरियां चली गई। कई बड़ी कंपनियों में नौकरी में कटौती की गई। देश के विश्यविद्यालयों में विद्यार्थियों की आवाज दबाई जा रही है।

सिंघवी के मुताबिक विदेश से कालाधन लाकर देश के हर नागरिक के बैंक खाते में 15 लाख रूपए जमा करने की घोषणा प्रधानमंत्री मोदी ने की थी। कालाधन तो आ नहीं सका, परंतु नीरव मोदी, विजय माल्या और मेहुल चौकसी जैसे लोग घोटाला करके देश से फऱार हो गए। वे भारतीय बैंकों का 61 हजार करोड़ रुपए लेकर फरार हुए हैं, लेकिन सरकार उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर पा रही है। राफेल विमान खरीदी में बड़ा घोटाला हुआ है। देश का 41 हजार करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। मोदी सरकार हर मोर्चे पर विफल हुई है। यह जश्न मनाने का नहीं बल्कि दुख व्यक्त करने का समय है।

Download PDF

Related Post