मोटरमैनों का ओवर टाइम करने से इनकार, लड़खड़ाई लोकल ट्रेन सेवा

Download PDF
मुंबई- महानगर की जीवन रेखा माने जानेवाली मध्य रेलवे की लोकल ट्रेन सेवा पीक हावर्स में लड़खड़ा गई है। दरअसल मध्य रेलवे के मोटरमैनों ने ओवर टाइम करने से इनकार कर दिया है, जिसके कारण शुक्रवार सुबह में 8 से 9 बजे के दरम्यान 9 लोकल गाड़ियों को रद्द करना पड़ा है। यदि मोटरमैन अपनी मांग पर अड़े रहे तो लोकल सेवा प्रभावित होने के आसार हैं।

जल्द रिक्त पदों को भरने, 26 मोटरमैनों पर की गई कार्रवाई वापस लेने की मांग

मोटरमैनों ओवर टाइम न करने की जिद पर अड़ गए हैं। उनकी प्रमुख मांगों में जल्द रिक्त पदों को भरने, 26 मोटरमैनों पर की गई कार्रवाई वापस लेने सहित अन्य मांगें शामिल हैं। मध्य रेलवे की लोकल सेवा लड़खड़ाने से यात्रियों को कष्ट झेलना पड़ रहा है। गाड़ियों की फेरियों में विलंब होने से भीड़ बढ़ गई है। कामकाजी लोगों को कार्यालय पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस बीच मध्य रेलवे के अधिकारियों ने आपात बैठक बुलाकर मसले का हल निकालने का प्रयास कर रहे हैं। मध्य रेलवे के मोटरमैनों ने ‘एकला चलो रे आंदोलन’ शुरू किया है। मोटरमैनों का आंदोलन बढ़ता है, तो मुख्य, ट्रान्स हार्बर, हार्बर की तकरीबन 600 लोकल फेरियों पर असर पड़ेगा। ‘वर्क टू रूल’ नियम का हवाला देते हुए केवल एक ड्यूटी करने का निर्णय मोटरमैनों ने लिया है।
मध्य रेलवे में मोटरमैन के करीब 283 जगह रिक्त है। इन रिक्त पदों को तत्काल भरने की मांग की गई है। मोटरमैनों का कहना है पदों को न भरे जाने से उन पर काम का अतिरिक्त भार पड़ता है। काम के बोझ से कुछ गलतियां हो जाती हैं, तो पहले मोटरमैन पर कार्रवाई की जाती है। लंबित मांगों को लेकर गुरुवार को मोटरमैन संगठन के पदाधिकारियों और संबंधित अधिकारियो के साथ बैठक हुई थी। परंतु बैठक बेनतीजा रही। लिहाजा शुक्रवार सुबह को मोटरमैनों ने ओवर टाइम करने से इनकार कर दिया। सुबह गर्दी के समय लोकल ट्रेन 15 से 20 मिनट देरी से दौड़ रही है। इसके कारण ट्रेनों और स्टेशनों पर भारी भीड़ दिखाई दे रही है। बताया जा रहा है कि शुक्रवार दोपहर में फिर अधिकारियों और संगठन के पदाधिकारियों के साथ बैठक होनेवाली है। मौटरमैनों का कहना है जब तक हमें ठोस आश्वासन नहीं मिल जाता, तब तक वे ओवर टाइम नहीं करेंगे।
Download PDF

Related Post