मध्यप्रदेश बेस्ट डेस्टीनेशन स्टेट बनकर उभरा

Download PDF

भोपाल, उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा है कि मध्यप्रदेश निवेश के लिए उद्योगपतियों की पहली पसंद बनकर उभरा है। यहाँ उद्योगों के लिए सभी आवश्यक आधारभूत सुविधाएँ उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि यहाँ उद्योगों के लिए अनुकूल माहौल है जिससे मध्यप्रदेश बेस्ट डेस्टीनेशन स्टेट बन गया है। उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश एकमात्र राज्य है, जो ईज ऑफ डूईंग बिजनेस पर भारत सरकार के एजेंडे पर सभी 372 अंकों का पालन करता है। श्री शुक्ल आज कॉन्फेडेरेशन ऑफ इंडियन इन्डस्ट्री (सीआईआई) मध्यप्रदेश के नये कार्यालय परिसर के शुभारंभ अवसर पर उद्योगपतियो को संबोधित कर रहे थे।

उद्योग मंत्री श्री शुक्ल ने कहा कि प्रदेश में दूसरे राज्यों के मुकाबले में शांति का माहौल है। साथ ही उद्योग संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम है, उन्हें बाहर जाने की जरूरत नहीं है। उद्योग मंत्री ने बुदनी और रीवा में मल्टी स्किल सेंटर की स्थापना में आवश्यक सहयोग तथा सहायता देने की बात भी कही।

श्री शुक्ल ने कहा कि मध्यप्रदेश की उद्योग नीतियों को उद्योगपति पसंद कर रहे हैं। इसलिए मध्यप्रदेश में उद्योगपति तेजी से निवेश कर रहे हैं। उद्योग मंत्री ने कहा कि उद्योगों के लिए आधारभूत सुविधाएँ, फोरलेन सड़कें, सरप्लस बिजली, पानी आदि आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध हैं। श्री शुक्ल ने कहा कि फोर लेन सड़कों के साथ एयर कनेक्टिविटी पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने उड़ान योजना (उड़ेगा देश का आम नागरिक) से एयर कनेक्टिविटी का जिक्र करते हुए कहा कि इससे निश्चित ही देश के विभिन्न शहरों के लिए उड़ान भरने मे उद्योगपतियो को सुविधा मिल सकेगी।

उद्योग मंत्री ने कहा कि प्रदेश में विभिन्न सेक्टर में उद्योग लगाने की अपार संभावनाएँ हैं। प्रदेश देश के मध्य स्थित होने के कारण बड़ा इनवेस्टमेंट डेस्टीनेशन सेंटर है। उन्होंने उद्योगपतियों से कहा कि वह ज्यादा से ज्यादा उद्योग लगाकर प्रदेश की तरक्की में योगदान दे। उद्योग मंत्री ने कहा कि प्रदेश में दूसरे राज्यों के मुकाबले में शांति का माहौल है। साथ ही उद्योग संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम है, उन्हें बाहर जाने की जरूरत नहीं है। उद्योग मंत्री ने बुदनी और रीवा में मल्टी स्किल सेंटर की स्थापना में आवश्यक सहयोग तथा सहायता देने की बात भी कही। श्री शुक्ल ने सीआईआई के नए कार्यालय की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि संस्था का देश-दुनिया में प्रदेश की ब्रांडिंग करने में अहम रोल रहा है। उन्होंने अपेक्षा की कि सीआईआई आगे भी पार्टनर के रूप में अपनी अच्छी और महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करेगा।

प्रमुख सचिव श्री मोहम्मद सुलेमान ने सीआईआई पदाधिकरियों से अपेक्षा की कि वह सरकार की मंशा के अनुरूप कर्त्तव्यों का निर्वहन करे, जिससे प्रदेश में उद्योगपति निवेश करने में ज्यादा से ज्यादा दिलचस्पी दिखाएं। उन्होंने आज मंत्रि-परिषद की बैठक में उद्योगों तथा उद्योगपतियों के हक में लिए गए फैसलों की जानकारी भी दी। श्री सुलेमान ने पीथमपुर में करीब 1200 एकड़ में मूलभूत सुविधाओं के साथ विकसित किए गए औद्योगिक क्षेत्र का उल्लेख भी किया।

राज्य परिषद के अध्यक्ष श्री राजेश खरे ने वर्ष 2018-19 के लिए सीआईआई के एजेंडे की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सीआईआई राज्य में बुनियादी ढाँचे के विकास पर काम करेगा जिसमें एयर कनेक्टिविटी बढ़ाने, कौशल विकास केंद्रों का विकास और पर्यावरण संरक्षण शामिल है।

Download PDF

Related Post