एमटीडीसी तकनीक के सहारे बढ़ाएगा पर्यटन  

Download PDF
मुंबई।  महाराष्ट्र पर्यटन विकास महामंडल (एमटीडीसी) ने यूएनडब्ल्यूटीओ (युनायटेड नेशन्स वर्ल्ड टूरिज्म आर्गेनाइजेशन) के साथ विश्व पर्यटन दिवस धूमधाम से मनाया। पर्यटन और डिजिटल परिवर्तन का प्रचार करना इस साल का लक्ष्य है। डिजिटल प्रौद्योगिकी निवेश और ट्रवल, टूरिज्म एवं पर्यटन क्षेत्र के उद्योगों में निवेश पर बल दिया जाएगा।

डिजिटल प्रौद्योगिकी निवेश और ट्रवल, टूरिज्म एवं पर्यटन क्षेत्र के उद्योगों में निवेश पर बल

पर्यटन मंत्री जयकुमार रावल के मुताबिक दुनियाभर में हो रहे डिजिटल परिवर्तन को स्वीकार करना समय की मांग है। विभिन्न प्रकार की जनसंख्या और भूभागों के सैलानियों से संवाद स्थापित करने के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म बेहद अहम है। तकनीक का इस्तेमाल करके विश्वभर के पर्यटकों से जुड़ने और उन्हें जानकारी देने से मदद मिलती है। मौजूदा दौर में एअारबीएनबी, एतिहाद, जेट एअरवेज और ओला के सहयोग से पर्यटकों की बढ़ती मांग को पूरा करना हमारे लिए संभव हो सका है। पुरानी चुनौतियों को मात देने में हम सफल हुए हैं। पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव विजय कुमार गौतम ने बताया कि सैलानियों के लिए इंटरॅक्टिव वेबसाइट और सोशल मीडिया विकसित की गई है। इसके माध्यम से एक क्लीक पर पर्यटकों को जरूरी जानकारी मिल जाती है। महाराष्ट्र भारत में पर्यटन का सबसे लोकप्रिय स्थान है। यहां सुंदर समुद्री किनारा, नेशनल पार्क, ठंडी हवा के स्थान, प्राकृतिक गुफा, झरने, किले, तीर्थस्थल, संग्रहालय और इतिहासिक स्थान हैं, जो पर्यटकों को आकर्षित करते हैं।
डिजिटल क्षेत्र के दुनियाभर के ट्रेंड्स और प्रगति का विचार करते हुए एमटीडीसी ने फेसबुक, यूट्युब और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया के माध्यम से कंटेन्ट, सर्च इंजिन प्लॅन और ऑनलाइन डेस्टिनेशन प्रमोशन पर जोर दिया है। 16 सितंबर से लेकर 27 सितंबर तक राज्यभर में कई समारोह मनाए गए।  होटल चालक , रिसॉर्ट ऑपरेटर,  पिकनिक आयोजक और अन्य संबंधित कारोबार से जुड़े लोगों से पर्यटन क्षेत्र के लिए सहयोग मांगा गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संकल्पना स्वच्छ भारत अभियान के तहत 15 सितंबर से 2 अक्टूबर तक मुंबई, पुणे, नाशिक, रत्नागिरी, नागपुर, औरंगाबाद, अमरावती और रत्नागिरी में सफाई मुहिम चलाई जा रही है। एसटीएएएच के प्रबंध निदेशक तरुण जौकानी  ने प्रौद्योगिकी के बारे में अपना विचार रखा। बोहरी किचन के सीईओ मुनाफ कपाडिया ने बताया कि विशेषकर घरेलू व्यंजनों के कारण प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।
Download PDF

Related Post