सांसद हीना गावित पर हमले के विरोध में नंदुरबार बंद

Download PDF

मुंबई- भारतीय जनता पार्टी की सांसद डॉ. हीना गावित पर हमले के विरोध में सोमवार को सुबह से नंदूरबार बंद का आयोजन जिला भाजपा की ओर से किया जा रहा है। इस बंद में स्कूल व कालेज सहभागी हो गए हैं| सुबह ही छात्रों को स्कूलों से लौटा दिया गया है। नवापुर तहसील को पूरी तरह बंद रखा गया है| यहां दुकानदारों ने स्वत: अपनी दुकानें बंद रखी हैं।

मराठा आरक्षण आंदोलनकारियों ने उनकी गाड़ी पर किया हमला

 रविवार को धुले जिले में स्थित जिलाधिकारी कार्यालय में जिला नियोजन समिति की बैठक में शामिल होने के लिए सांसद डॉ. हीना गावित गई हुई थीं। बैठक के बाद जब हीना गावित गाड़ी में बैठकर अपने निवास की ओर जानेवाली थीं, उसी समय मराठा आरक्षण आंदोलनकारियों ने उनकी गाड़ी पर हमला कर दिया था। किसी तरह हीना गावित को गाड़ी से बाहर निकाला गया। आंदोलनकारियों ने धुले जिलाधिकारी कार्यालय के सामने ही उनकी गाड़ी में तोड़फोड़ की थी। इस घटना में पुलिस ने तकरीबन 25 मराठा आंदोलनकारियों को हिरासत में लिया था।

रविवार को शाम को सांसद हीना गावित ने स्थानीय पुलिस स्टेशन में खुद मामला दर्ज कराया । पुलिस ने मामले की जांच के लिए अलग से टीम बनाई है। डॉ. हीना गावित ने बताया कि उन पर किया गया हमला पूर्व नियोजित हो सकता है। इसका कारण मुझसे पहले विधायक कुणाल पाटिल जिला नियोजन बैठक से निकले थे और आंदोलनकारियों ने उन पर किसी भी तरह का हमला नहीं किया। उन्होंने इस मामले की सघन जांच की मांग की है।

इस बीच मराठा आरक्षण आंदोलन के धुले में समन्वयक मनोज मोरे ने कहा कि डॉ. हीना गावित की गाड़ी में तोड़फोड़ मराठा आंदोलनकारियों के गुस्से की प्रतिक्रिया स्वरुप हुई है। इसमें किसी का कोई अन्य इरादा नहीं था। मराठा समाज के लोग इतने दिनों से आंदोलन कर रहे हैं और सरकार की ओर से आंदोलन पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है| इस घटना की वजह से अगर डॉ. हीना गावित को मानसिक तकलीफ हुई हो, उनकी भावनाएं आहत हुई हों तो वह मराठा समाज की ओर से माफी मांगते हैं। घटना की जानकारी मिलते ही नंदुरबार जिले के लोगों में नाराजगी फैल गई थी। इस घटना का विरोध करने के लिए सोमवार को बंद का आयोजन किया गया है। नंदुरबार जिले की सभी तहसीलों को बंद रखा गया है। यहां सभी दुकानें अपने आप बंद हैं। स्कूल व कालेजों में छुट्टी घोषित कर दी गई है।

Download PDF

Related Post