मराठा आंदोलनकारियों ने लातुर में पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे का पुतला फूंका

Download PDF
मुंबई- मराठा समाज के प्रति अनर्गल बयानबाजी करने पर बुधवार को सुबह लातुर में मराठा क्रांति मोर्चा की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद नारायण राणे के पुतले का प्रतीकात्मक दहन किया गया। इस अवसर पर आंदोलनकारियों ने नारायण राणे व मुख्यमंत्री तथा सरकार के विरुद्ध जोरदार नारेबाजी भी की।
रविवार को मुख्यमंत्री ने सह्याद्रि अतिथिगृह पर मराठा समाज के नेताओं की बैठक बुलाई थी। उस बैठक में नारायण राणे अपने विधायक बेटे नीतेश राणे सहित गए थे। इस बैठक के बाद नारायण राणे ने मराठा समाज को अपना आंदोलन वापस लेने की अपील की थी। लेकिन मराठा समाज की ओर से सोमवार व मंगलवार को आंदोलन जारी रखा गया था। इसके बाद नारायण राणे ने मराठा समाज पर नेता बनने के लिए आंदोलन करने का आरोप लगाया था। नारायण राणे ने कहा था कि मराठा समाज को कुछ जानकारी नहीं है| इन लोगों को उनसे सीखना चाहिए| वह भी मराठा समाज के हैं| इसलिए वह भी मराठा समाज के बारे में निर्णय ले सकते हैं।
 राणे के इस बयान से आहत होकर सकल मराठा समाज ने बुधवार को सुबह में राणे के विरुद्ध आंदोलन किया और उनका पुतला दहन किया। मराठा समाज के लोगों ने कहा कि अगर राणे को कानून का इतना ही अध्ययन है तो वह क्लास शुरु करें। किसी कानून कालेज में जाकर प्राध्यापक की नौकरी करें।
Download PDF

Related Post