निरुपम ने दी कांग्रेसियों को एकजुटता की सलाह 

Download PDF

मुंबई। पार्टी में आंतरिक गुटबाजी से परेशान कांग्रेस के मुंबई अध्यक्ष संजय निरूपम ने पार्टी नेताओं को एकजुटता की सलाह दी है। उन्होंने तीन राज्यों में कांग्रेस को मिली सफलता का हवाला देते हुए कहा कि आपसी मतभेद और मनमुटाव को भुलाकार सभी मिलकर काम करें तो आगामी चुनाव में पार्टी की जीत को कोई ताकत नहीं रोक सकती।

आंतरिक गुटबाजी से परेशान 

पार्टी कार्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए निरूपम ने कहा कि तीन राज्यों में मिली सफलता इस बात का संकेत है कि मोदीजी जानेवाले हैं और राहुलजी आनेवाले हैं। उन्होंने सोनिया गांधी का हवाले से कहा कि कांग्रेसियों को छोड़कर कोई ताकत नहीं है, जो कांग्रेस को पराजित कर सके। उन्होंने कहा कि पांच राज्यों के नतीजों के बाद भाजपा के कई नेता घर वापसी के लिए संपर्क में हैं। जो पार छोड़ गए हैं, वे वापस लौटना चाहते हैं। सभी का पार्टी में स्वागत है।

निरूपम ने कहा कि गुटबाजी से कांग्रेस पार्टी को पहले काफी नुकसान उठाना पड़ा है। यदि हमें आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनाव जीतना है, तो आपसी मतभेदों को दूर कर सभी नेताओं को एक मंच पर आना होगा। निरुपम ने कहा कि जिस तरह 3 राज्यों में पार्टी नेताओं ने आपसी गुटबाजी को खत्म कर भाजपा को हराया है, उसी तरह महाराष्ट्र में भी सभी नेताओं को मिल कर काम करना चाहिए। गुटबाजी का फायदा हमेशा विरोधी दलों को मिलता है। निरूपम ने कहा कि 3 राज्यों में कांग्रेस ने अपने बल पर जीत हासिल की है। इससे पहले कहा जाता था कि कांग्रेस बिना क्षेत्रीय पार्टी के सहयोग के चुनाव नहीं जीत सकती। यदि सब कुछ ठीक रहा तो आगामी लोकसभा व विधान सभा चुनाव में कांग्रेस अपने बल पर बहुमत हासिल कर सकती है।

कांग्रेस की संविधान यात्रा

भाजपा की पोल खोलने के लिए मुंबई कांग्रेस ने संविधान रथ यात्रा की शुरुआत की है। मोबाइल वैन पर लगे एलसीडी पर एक वीडियो शो रील लोगों को दिखाई जा रही है। इसमें कांग्रेस के 60 वर्ष के शासन के दौरान देश का कितना विकास किया है और भाजपा के साढ़े चार साल के कार्यकाल की तुलना की गई है। नोटबंदी और जीएसटी से हुई लोगों को परेशानी और भाजपा के कार्यकाल में हुए घोटाले की जानकारी दी गई है।

फेरीवालों के पक्ष में कांग्रेसियों ने किया प्रदर्शन 
कांग्रेस के मुंबई अध्यक्ष संजय निरुपम ने मुंबई मनपा पर फेरीवालों को लूटने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि फेरीवाले कई वर्षो से अपना कारोबार कर रहे हैं। यैसे में बीएमसी को उनका रोजगार छीनने का कोई अधिकार नहीं है।
Download PDF

Related Post