महिलाओं पर जुल्म रोकने राज्य में बनेगा ‘वन स्टॉप सेंटर’

Download PDF
मुंबई- मुश्किलों में घिरी महिलाओं की तत्काल सहायता के लिए देशभर में नए से 100 ‘वन स्टॉप सेंटर’ बनाने के प्रस्ताव को सोमवार को महिला एवं बाल कल्याण मंत्रालय ने मंजूरी दी है। इसमें महाराष्ट्र के वर्धा जिला भी शामिल है। वर्धा में अत्याधुनिक सेंटर बनाने की अनुमति केंद्र सरकार ने प्रदान की है।
देश के 9 राज्यों में नए से 100 ‘वन स्टॉप सेंटर’ बनाने की सोमवार को मंजुरी दी गई।  महाराष्ट्र सहित हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, मध्यप्रदेश, मिजोरम, नागालैंड, उड़ीसा, तामिलनाडू और उत्तर प्रदेश, इन राज्यों में इसतह के सेंटर बनाए जाएंगे। केंद्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्रालय ने अप्रैल 2015 से देश में ‘वन स्टॉप सेंटर’ योजना शुरूआत की है।
केंद्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्रालय के कार्यक्रम मंजूरी मंडल (पीएबी) की ओर से देश के 9 राज्यों में नए से 100 ‘वन स्टॉप सेंटर’ बनाने की सोमवार को मंजुरी दी गई।  महाराष्ट्र सहित हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, मध्यप्रदेश, मिजोरम, नागालैंड, उड़ीसा, तामिलनाडू और उत्तर प्रदेश, इन राज्यों में इसतह के सेंटर बनाए जाएंगे। केंद्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्रालय ने अप्रैल 2015 से देश में ‘वन स्टॉप सेंटर’ योजना शुरूआत की है। इस योजना के अंतर्गत देश में अभी तक 182 सेंटर बनाए गए हैं। देश के 33 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की 1 लाख 30 हजार महिलाओं ने इस योजना का लाभ लिया है।
 इन सेंटर के माध्यम से महिलाओं पर होनेवाले अत्याचार को रोकने के लिए महिलाओं को एक ही स्थान पर विभिन्न सुविधा उपलब्ध कराई जाती है।  महिलाओं पर होनेवाले जुल्म पर अंकुश लगाना ‘वन स्टॉप सेंटर’ का प्रमुख उद्देश्य है। सेंटर में पुलिस सहायता, स्वास्थ्य मदद, मानसिक परामर्श, कानूनी सलाह आदि सुविधा उपलब्ध कराई जाती है। इसीतरह पीड़ित महिला को 5 दिन रहने की सुविधा भी इस सेंटर के माध्यम से उपलब्ध कराई जाती है।
Download PDF

Related Post