प्याज उत्पादक किसानों को प्रति कुंटल 200 रुपए मिलेगा अनुदान

Download PDF

 मुंबई। महाराष्ट्र के प्याज उत्पादक किसानों को बड़ी राहत देते हुए राज्य सरकार ने 200 रुपए प्रति कुंतल अनुदान देने का अहम फैसला  लिया है। प्रत्येक किसान को 200 कुंतल क्षमता तक प्रति कुंतल 200 रुपए अनुदान दिया जाएगा। अब तक प्याज उत्पादक किसानों को दी गई मदद में यह सबसे ज्यादा बड़ी सहायता है। एक नंवबर 2018 से 15 दिसंबर 2018 तक कृषि उत्पन्न बाजार समिति में उपज बेचनेवाले किसानों को इस फैसले का लाभ मिलेगा। इस आशय के प्रस्ताव को गुरुवार को राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में मंजूरी दी गई। हालांकि विपक्ष ने इस फैसले को किसानों का उपहास बताया है।

मंत्रिमंडल की बैठक में फैसला, अभी तक की सबसे बड़ी सहायता

विपक्ष ने कहा यह तो किसानों का उपहास

मौजूदा समय में कृषि बाजार समितियों में बड़े पैमाने पर प्याज की आवक हो रही है। नवंबर महीने में कुल 41.23 लाख कुंतल प्याज की खेप आई थी। एक किसान को 200 कुंतल तक यह अनुदान मिलेगा। मुंबई कृषि उत्पन्न बाजार समिति को छोड़कर राज्य की सभी बाजार समितियों के लिए यह निर्णय लागू होगा। अनुदान सीधे बैंक हस्तांतरण द्वारा सीधे किसानों के बैंक खाते में जमा किया जाएगा। इस योजना के लिए कुल 150 करोड़ रुपए की निधि को मंजूरी मंत्रिमंडल की बैठक में दी गई है।

प्याज की खेती करनेवाले किसान कई दिनों से परेशान हैं। महाराष्‍ट्र में किसानों को फसल बेचने के बाद भी उसकी लागत तक नहीं मिल पा रही है।  हालात यह हैं कि 1 किलो प्याज 1 रुपये में बेचने की नौबत आ गई है। नासिक के एक किसान ने तो लागत के बराबर पैसे नहीं मिलने से नाराज होकर मिले पैसे को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मनी आर्डर कर दिया था। किसान संजय साठे ने विरोधस्वरूप 750 किलो प्याज के बदले मिले 1064 रुपए प्रधानमंत्री को भेज दिया और कहा कि इस पैसे को प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा कर दिए जाएं। 

परिवहन मंत्री दिवाकर रावते ने पिछली मंत्रिमंडल की बैठक में निफड़ थोक बाजार के भाव के कारण दिक्कत में फंसे प्याज की खेती करनेवाले किसानों को अनुदान देने की मांग की थी। गुरुवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में किसानों को प्रति कुंतल 200 रुपए अनुदान देने का निर्णय लिया गया। परिवहन मंत्री रावते ने इसके लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस सहित मंत्रिमंडल सदस्यों का आभार माना है। रावते के मुताबिक प्याज उत्पादक किसानों को राहत देने के मकसद से शीघ्र निर्णय लेने की मांग उठ रही थी। मामले की गंभीरता देखते हुए पिछली  मंत्रिमंडल की बैठक के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और मंत्रिमंडल सदस्यों को विभिन्न उपाययोजना सुझाई थी। प्याज के लिए प्रति कुंतल 200 रुपए अनुदान देने का निर्णय बेहद अहम है। 
बाक्स 

एनसीपी प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल ने कहा है  किसानों की आंख में प्याज ने आंसू ला दिया है। उन्हें राहत देने के बजाए राज्य सरकार  ढुलाई का अनुदान देकर मदद का दावा कर रही है। यह किसानों का उपहास है। पाटिल के मुताबिक सरकार ने प्याज उत्पादक किसानों को 200 रुपए का ट्रांसपोर्ट अनुदान घेषित किया है । नासिक जिले में उगाया जानेवाला प्याज जिले के बाहर जाता है । लिहाजा इस अनुदान के साथ राज्य सरकार प्याज बाहर भेजने के लिए भी अनुदान दे । एक किलो पर दो रुपए अनुदान देने से किसानों का कैसे हित होगा । नासिक का प्याज इस अनुदान से गुजरात और दिल्ली तक कैसे जाएगा । पाटिल ने किसानों को अधिक सहायता देने की मांग की है ।  

Download PDF

Related Post