शिवाजी स्मारक के प्रारूप पर विपक्ष और गट नेताओं से स्वतंत्र बैठक

Download PDF
मुंबई- मरीन ड्राइव के अरब सागर में छत्रपति शिवाजी महाराज का दुनिया का सबसे उंचा स्मारक बनाया जाना है। पुतले की ऊंचाई के संदर्भ में विधानसभा के विपक्ष के नेता और गट नेताओं की स्वतंत्र बैठक बुलाकर स्मारक का प्रारूप प्रस्तुत किया जाएगा. बैठक में आई सूचनाएं मान्य की जाएगी। यह जानकारी मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को नागपुर विधान सभा में दी।

सलाहगार समिति ने 40 फीसदी चबूतरा और 60 प्रतिशत पुतला का डिजाइन तैयार किया

नेता प्रतिपक्ष राधाकृष्ण विखे पाटिल, एनसीपी के अजित पवार ने इस मसले पर सवाल पूछा था। इसके जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि स्मारक का पहला प्रारूप केंद्रीय पर्यावरण विभाग के पास भेजा गया था. तब 20 फीसदी चबूतरा और 80 प्रतिशत  पुतला का स्कीमॅटीक डिजाइन था. लेकिन समुद्र में तेज हवा और अन्य मुद्दों का विचार कर सलाहगार समिति ने 40 फीसदी चबूतरा और 60 प्रतिशत पुतला का डिजाइन तैयार किया। यह स्मारक समुद्र के अंदर होने के कारण सलाहकार संस्था ने प्रारूप को अंतिम स्वरूप दिया है। बावजूद इसके  विपक्ष के नेता, गटनेता के साथ स्वतंत्र बैठक बुलाकर प्रारूप पर चर्चा की जाएगा
Download PDF

Related Post